बच्चों को अंडा परोसने नहीं मिला फंड तो खुद ही कर रहे इंतजाम

Bastar Jagdalpur News - बस्तर और सरगुजा संभाग के स्कूलों में बच्चों को भाेजन के साथ अंडा देने की सरकार की योजना दम तोड़ती नजर आ रही है। जिले...

Nov 11, 2019, 07:11 AM IST
बस्तर और सरगुजा संभाग के स्कूलों में बच्चों को भाेजन के साथ अंडा देने की सरकार की योजना दम तोड़ती नजर आ रही है। जिले में अंडे के लिए अब तक सरकार ने एक भी पैसा जारी नहीं किया है। लेकिन इस योजना पर अमल करने के लिए कहा जा रहा है। अधिकारी राज्य शासन से जारी फरमान के बाद शिक्षकों पर दबाव बनाते हुए उन्हें इस योजना का संचालन करने के लिए कहा है।

अधिकारियों के निर्देश पर कई शिक्षक अंडे के खर्च की व्यवस्था अपने स्तर पर कर रहे हैं। उनसे कहा गया है कि जब शासन से पैसे आएंगे तो दे दिए जाएंगे। महात्मा गांधी वार्ड स्थित प्राथमिक शाला के हेडमास्टर एस चतुर्वेदी ने कहा कि पिछले पांच महीने से वे अपने पैसे से अंडा लाकर बच्चों को खिला रहे हैं। जिसके चलते उन्हें हर महीने परेशानी उठानी पड़ रही है। चतुर्वेदी ने कहा कि उनके स्कूल मंे इस समय 50 से अधिक बच्चे पढ़ रहे हैं। बाजार में एक अंडा 5 से 6 रूपए में मिलता है। इस स्थित में इतने बच्चे के लिए अंडा खरीदने में काफी पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं।

पैसा आने पर शिक्षकों को दे दिया जाएगा

जिला शिक्षा अधिकारी राजेश मिश्रा ने कहा कि यह बात सही है कि पिछले पांच महीने से राज्य सरकार ने अंडा खिलाने के लिए राशि जारी नहीं की है। शिक्षक अपने स्तर पर इसकी व्यवस्था कर रहे हैं। जैसे ही शासन से राशि जारी होगी शिक्षकों को पैसे वापस कर दिए जाएंगे।

1227 प्राथमिक शालाओं में पढ़ रहे हैं 55 हजार बच्चे

जिले में इस समय 1127 प्राथमिक स्कूल संचालित हो रहे हैं। जिसमें इस समय 55 हजार बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं। योजना के तहत हर स्कूली बच्चे को सप्ताह में दो दिन अंडा खिलाना है। नाम नहीं छापने के अनुरोध पर कुछ शिक्षकों ने बताया कि शुरूआती दौर मेें इस योजना के सफल होने की संभावना थी।

कोंडागांव. शिक्षक अपने खर्च पर बच्चों को अंडा खिला रहे हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना