अपराध / 5 साल पहले प्रेमिका की हत्या कर प्रयाग में बन गया था साधू, मोबइल पर एक कॉल ने पकड़वाया

Dainik Bhaskar

Dec 06, 2018, 06:12 PM IST



इनसेट में आरोपी। पुलिस हिरासत में आरोपी अब 5 साल बाद ऐसा दिखने लगा है। इनसेट में आरोपी। पुलिस हिरासत में आरोपी अब 5 साल बाद ऐसा दिखने लगा है।
X
इनसेट में आरोपी। पुलिस हिरासत में आरोपी अब 5 साल बाद ऐसा दिखने लगा है।इनसेट में आरोपी। पुलिस हिरासत में आरोपी अब 5 साल बाद ऐसा दिखने लगा है।
  • comment

  • प्रेमिका के चरित्र पर शंका के चलते आरोपी ने उसकी हत्या कर दी थी
  • आरोपी 5 साल से नाम बदलकर साधू बन गया था और कथा कहता था 

दुर्ग. प्रेमिका की हत्या कर 5 साल से फरार आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया। आरोपी प्रयाग में साधू बनकर भागवत कथा सुनाता था। मोबाइल पर बस एक फोन करने की गलती ने उसे पकड़वा दिया। पुलिस आरोपी को लेकर प्रयाग से दुर्ग पहुंची। गुरुवार को दुर्ग के एडिश्नल एसपी विजय कुमार पांडेय ने प्रेस कांफ्रेंस कर मामले का खुलासा किया। 

 

एसपी संजीव शुक्ला के आने के बाद इस केस को रिओपन किया गया और इसपर नए सिरे से जांच शुरू की गई। पता चला कि आरोपी सुशील दुबे का परिवार इलाहाबद (वर्तमान प्रयाग) में रहता था। आरोपी के पिता की साधुओं में अच्छी पकड़ थी और वो खुद साधुओं के बीच ही वक्त बिताते थे। इस आधार पर आरोपी के परिवार के सभी कॉल को ट्रेस किया गया। पता चला कि किसी हनुमान दास महाराज का फोन अक्सर आरोपी के घर आता है। पुलिस ने हनुमान दास की तलाश शुरू की। पता चला कि वो मध्य प्रदेश के रामकुंड में आयोजित भागवत कथा में आया है। पुलिस वहां पहुंची और आरोपी पर नजर रखने लगी। इधर पुलिस को आरोपी की कलाई पर मृतका के नाम का टैटू दिख गया। पुलिस आश्वस्त हो गई कि यहीं सुशीलदुबे है। आरोपी को हिरासत में लेते ही उसने कबूल लिया कि वहीं सुशील दुबे है और उसी ने रीता साहू की हत्या की थी। 

 

पुलिस के मुताबिक 18 अक्टूबर 2013 को भिलाई के रामनगर में एक युवती की लाश मिली थी। उसकी पहचान रीता साहू के रूप में की गई थी। मृतका का प्रेमी सुशील दूबे घटना के बाद से फरार था। सुशील ने बताया कि वो रीता से बहुत प्यार करता था। रीता के दूसरे युवकों से भी फिजिकल रिलेशन थे। ये बात पता चलने पर सुशील ने गुस्से में उसकी हत्या कर दी थी।  

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन