आयकर छापा / मुख्यमंत्री की उप सचिव सौम्या के भिलाई स्थित घर की जांच 38 घंटे बाद पूरी, कई दस्तावेज लेकर लौटी टीम

जांच पूरी कर घर से बाहर निकलते आयकर अधिकारी।
X

  • रात 2 बजे घर से निकले अधिकारी, दिल्ली लौटे 
  • सौम्या चौरसिया के घर से मिले साक्ष्यों की जांच होगी

दैनिक भास्कर

Mar 04, 2020, 03:01 PM IST

भिलाई. पिछले 2 दिनों से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की उप सचिव सौम्या चौरसिया के घर की जांच खत्म हो चुकी है। मंगलवार की देर रात करीब 2 बजे आयकर विभाग के अधिकारी भिलाई स्थित सौम्या के घर से निकले। आयकर सूत्रों के मुताबिक अधिकारियों ने कुछ दस्तावेज सौम्या के घर से बरामद किए हैं। अब इनकी जांच की जाएगी। अधिकारी भिलाई से रायपुर के लिए निकले और फिर दिल्ली लौट गए। सोमवार की सुबह 12 बजे से आयकर के अधिकारी यहां जांच कर रहे थे।
 

अधिकारियों की टीम में आधिकारिक तौर पर फिलहाल कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। जांच के लिए आए सायबर एक्सपर्ट के साथ एक महिला अधिकारी भी मौजूद थीं। इस टीम ने दो दिनों तक न सिर्फ सौम्या और उनके रिश्तेदारों से पूछताछ की, बल्कि घर के एक-एक सामान को जांचा। घर की बनावट को भी नापा गया है। सौम्या चौरसिया के ड्रायवर से भी अधिकारी बार-बार पूछताछ करते रहे। 


कचरे की हुई जांच, पिज्जा खाया अधिकारियों ने 
मंगलवार की सुबह करीब 9.00 बजे सौम्या चौरसिया के घर में काम करने वाली बाई को अंदर आने की अनुमति दी गई। करीब आधे घंटे तक बाई ने घर में रहकर फ़र्स्ट फ्लोर और अंदर के कमरों की सफाई की। रात के कचरे को उठाकर बाहर फेंका। इसमें अधिकतर डिब्बे पिज्जा के थे। कचरे को बाहर फेंकने पर जवानों ने उसकी भी जांच की। 


सौम्या को था इस बात का डर 
सौम्या चौरसिया ने रात में सोने से पहले फोन पर पुलिस अधिकारियों से बात की। आशंका जताई कि उसके घर में कुछ सामान फेंके जा सकते हैं। अत: सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जाए। तब अफसरों ने ड्यूटी पर तैनात टीआई भावेश शाह को सूचित किया। रात में 6 पुलिस कर्मियों को बुलाया गया। सौम्या के घर के चारों तरफ सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई। रिजर्व पुलिस बल के साथ स्थानीय पुलिस सुरक्षा में डटी रही।

छत्तीसगढ़ में 27 फरवरी से जारी है कार्रवाई
आयकर की टीम ने 27 फरवरी को सुबह छत्तीसगढ़ में अफसरों, नेताओं और कारोबारियों के यहां छापे मारे थे। 13 लोगों के 25 ठिकानों पर छापे मारे गए थे। इनमें रायपुर के मेयर एजाज ढेबर, पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांड, आईएएस अनिल टुटेजा, सीए अजय सिंघवानी, होटल कारोबारी गुरुचरण सिंह होरा, मेयर के भाई अनवर ढेबर, डॉ. ए फरिश्ता, सीए संजय संचेती और सीए कमलेश जैन के नाम प्रमुख हैं। इन सभी लोगों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का नजदीकी बताया जा रहा है। बीते रविवार को आयकर विभाग की केंद्रीय टीम ने अधिकांश जगह जांच पूरी कर ली। हालांकि, ऑपरेशन को लीड कर रहे कुछ अफसर रायपुर में ही डेरा जमाए हुए हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना