सीबीएसई  / बोर्ड के बच्चे पढ़ेंगे योगा और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस

Bhilai news CBSE Children will now study in Yoga and Artificial Intelligence in School
X
Bhilai news CBSE Children will now study in Yoga and Artificial Intelligence in School

  • सिलेबस में बदलाव : इस सत्र से छात्रों के लिए शुरू होंगे 59 नए कोर्स, बच्चों के लिए वैकल्पिक होगा
  • स्किल डेवलपमेंट को सेकंडरी लेवल पर 17 और सीनियर सेकंडरी लेवल पर 42 सब्जेक्ट्स 

Jun 19, 2019, 11:48 AM IST

भिलाई. बच्चों में किताबी ज्ञान के साथ स्किल डेवलप करने के उद्देश्य से सीबीएसई कुछ नए कोर्स ला रहा है। जून के अंतिम सप्ताह में शुरू होने वाले नए सत्र में सीबीएसई स्कूलों में स्टूडेंट्स के लिए कई नई चीजें होंगी। इससे बच्चों को किताबी ज्ञान के साथ प्रैक्टिकल नॉलेज भी मिल सकेगा। इसमें बच्चों को एक ऑप्शनल सब्जेक्ट चुनना होगा। इसमें योगा, आईटी समेत अन्य विषय होंगे। इससे बच्चों में स्किल डेवलप होने की उम्मीद की जा रही है। सीबीएसई सेकंडरी लेवल पर 17 और सीनियर सेकंडरी लेवल पर 42 स्किल सब्जेक्ट्स हैं। 

पांच कंपल्सरी सब्जेक्ट और एक ऑप्शनल होगा 

नए विषयों के रूप में सीबीएसई, स्टूडेंट्स आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई), योगा और अरली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन व अन्य विषय शामिल हैं। पांच कंपल्सरी सब्जेक्ट के अलावा छठे ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में स्टूडेंट इसे चुन सकेंगे। एआई, देश की इकानॉमिक ग्रोथ और सोशल डेवलपमेंट का महत्वपूर्ण पहलू है इसलिए इसे कॅरिकुलम में शामिल किया जा रहा है। इसका उद्देश्य छात्र-छात्राओं की प्रतिभा को निखारना है। जिसका फायदा कॅरियर और बिजनेस में मिलेगा। 

सीबीएसई ने सेकंडरी और सीनियर सेकंडरी लेबल के लिए अलग-अलग कोर्स रखा है। सेकंडरी लेवल पर 17 और सीनियर सेकंडरी लेवल पर 42 नए कोर्स का चयन किया गया है। इसकी शुरुआत नए शिक्षा सत्र 2019-20 में किया जाएगा। इनमें से कोई एक सब्जेक्ट बच्चे लेकर अपना स्किल डेवलप कर सकेंगे। 

कक्षा 9वीं और 10वीं के छात्र आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के साथ रिटेल, आईटी, सिक्योरिटी, ऑटोमोटिव, ब्यूटी एंड वेलनेस, एग्रीकल्चर, फूड प्रोडक्शन, बैंकिंग एंड इंश्योरेंस, मार्केटिंग एंड सेल्स, हेल्थकेयर, अपैरल और मीडिया जैसे कोर्स हैं। 12वीं के योग और अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन आदि है। 

सभी सब्जेक्ट का सक्सेसफुल इंप्लिमेंटेशन के लिए बोर्ड टीचर्स की कैपेसिटी बिल्डिंग के अलावा अन्य चीजों में भी मदद करेगा। उनके स्किल डेवलपमेंट में उनकी सहायता कर सकेंगे। इनकी थ्योरी के साथ प्रैक्टिकल भी होगा, ताकि स्टूडेंट्स ने कितना सीखा इसकी जानकारी आसानी से मिल सकेगी। इससे छात्रों को फायदा होगा। 

सीबीएसई सेकंडरी लेवल पर 17 और सीनियर सेकंडरी लेवल पर 42 स्किल सब्जेक्ट्स हैं। स्किल बेस्ड बनाने के लिए सीबीएसई ने नए विषयों को करिकुलम में शामिल किया है। पांच कंपल्सरी सब्जेक्ट के अलावा छठे ऑप्शनल सब्जेक्ट के रूप में स्टूडेंट इसे चुन सकेंगे।

विभा झा, प्राचार्य और ऑब्जर्वर, सीबीएसई 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना