पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

10वीं में 80% से ज्यादा अंक लाने वाले स्टूडेंट्स के लिए 2 साल तक निशुल्क आवासीय कोचिंग

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीएसपी के बंद स्कूल में लगेंगी क्लास, 200 छात्र वहीं रहकर कर सकेंगे मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी 
  • क्रियान्वयन : जिला स्तरीय कमेटी करेगी विशेष कोचिंग व्यवस्था की मॉनिटरिंग 
  • मिशन बैटर एजुकेशन : प्रयास आवासीय विद्यालय की तर्ज पर टाउनशिप में खोले जाएंगे आवासीय कोचिंग सेंटर 

भिलाई.  जिले के मेधावी बच्चों के लिए गुड न्यूज है। ऐसे बच्चों के लिए 200 सीटर आवासीय कोचिंग क्लास शुरू की जा रही है। यहां छात्र-छात्राओं को नीट, जेईई और क्लेट आदि प्रतियोगी परीक्षा के लिए तैयार किया जाएगा। बीएसपी के सेक्टर-1, सेक्टर-5 और सेक्टर-6 स्थित बंद स्कूलों को देखा है। जिला प्रशासन की पहल पर शिक्षा विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। 

1) इसके लिए राष्ट्रीय स्तर की एजेंसी से होगा अनुबंध 

10वीं कक्षा में 80%या इससे अधिक अंक लाने वाले शासकीय स्कूलों के छात्रों का उनके स्कूलों में पंजीयन किया जाएगा। उनके विषयों को देखते हुए मैथ्स के स्टूडेंट्स होंगे तो उन्हें नीट और पीईटी, जीव विज्ञान होगा तो नीट की कोचिंग दी जाएगी। 

इसके ऑपरेशन के लिए बनेगी जिलास्तर कमेटी 
कोचिंग में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के रहने और खाने की व्यवस्था की जाएगी। स्टडी मटेरियल और कोचिंग एजेंसी के काम की मॉनिटरिंग करने के लिए जिला स्तर पर एक कमेटी बनाई जाएगी। इसमें डीईओ समेत अन्य आला अधिकारी होंगे। 

कोचिंग एजेंसी से दो साल के लिए अनुबंध होगा। इसमें 10-10 महीने के दो टर्न होंगे। इसी वजह से 10वीं पास छात्र-छात्राओं का चयन किया जा रहा है, ताकि दो साल में उन्हें परीक्षा के लिए पूरी तरह तैयार किया जा सके। डीएमएस से संचालन होगा। 

कमजोर बच्चों के लिए लगेगी रेमेडियल क्लास 
बोर्ड परीक्षा के नतीजों की समीक्षा की गई है। इसमें कमजोर बच्चों के लिए रेमेडियल क्लास लगाने की भी योजना बनाई गई है। जो बच्चों कक्षा में फेल हो गए हैं या फिर उनके मार्क्स बहुत कम हैं, उनकी छंटाई की जाएगी। उनके लिए अलग से कक्षाएं लगाई जाएंगी। 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें