छत्तीसगढ़  / जेएलएन मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट में होगी अटेंडेंट, नर्स, फार्मासिस्ट की भर्ती

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 12:44 PM IST


bhilai news JLN Medical Research Institute will be recruiting attendants, nurses, pharmacists, Sector 9 hospital
X
bhilai news JLN Medical Research Institute will be recruiting attendants, nurses, pharmacists, Sector 9 hospital

  • प्रबंधन ने की सेक्टर -9 अस्पताल में रिक्त पदों में नियुक्तियों के लिए पूरी की तैयारियां 
  • चुनाव आचार संहिता खत्म होने के बाद शुरू होगी प्रक्रिया, मरीजों की दूर होगी परेशानी

भिलाई. सेक्टर -9 स्थित जवाहरलाल नेहरू चिकित्सा अनुसंधान केंद्र में अलग-अलग विभागों में स्टाफ की कमी को दूर करने के लिए प्रबंधन ने तैयारी शुरू कर दी है। अब  चुनाव आचार संहिता के समाप्त होने का इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद बाद 43 अटेंडेंट, 21 नर्स एवं 22 फार्मासिस्ट की भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

6 माह के अंदर पूरी होगी स्टाफ की भर्ती प्रक्रिया

  1. कुछ समय से बीएसपी संचालित अस्पताल फार्मासिस्ट एवं नर्सिंग स्टाफ की भारी कमी से जूझ रहा है। उस कमी को दूर करने के लिए चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के उपरांत लंबित भर्ती प्रक्रिया को पूर्ण कर लगभग 30 हॉस्पिटल स्टाफ की भर्ती की जाएगी। जिस पर हॉस्पिटल के विभिन्न पद समाहित होंगे। अस्पताल के कार्मिक विभाग के प्रभारी जेएस ठाकुर ने हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन सीटू के अस्पताल विभागीय समिति को बताया कि 100 अटेंडेंट के बदले में 90 अटेंडेंट को देने का निर्णय हुआ था। 

  2. इसमें 52 अटेंडेंट मिल चुके हैं बचे 43 अटेंडेंट हेतु नोटशीट भेजा गया है, जल्द ही अटेंडेंट अस्पताल के लिए मिलने की संभावना है। वहीं 6 माह के भीतर चरणबद्ध तरीके से 21 नर्स एवं 22 फार्मासिस्ट की भर्ती प्रस्तावित है। इस कार्य को पूर्ण करने के लिए अस्पताल प्रबंधन ने प्रक्रिया को प्रारंभ भी कर दी गई है।  इस प्रक्रिया के पूरा होने के बाद अस्पताल में आने वाले मरीजों को भी राहत मिल सकेगी और उनकी उचित देखभाल के लिए कर्मचारी मौजूद रहेंगे। 

  3. स्टिचिंग एलाउंस की नोटशीट भेजी गई 

    अस्पताल कर्मचारियों के लिए स्टिचिंग अलाउंस के प्रावधान प्रारंभ करने अस्पताल प्रबंधन ने नोट शीट ईडी पीएंडए कार्यालय को प्रेषित की गई है। अस्पताल वाहन स्टैंड के ठेका समाप्त हो जाने के बाद और नए ठेका के बीच में लगने वाला समय को समाप्त कर ठेका प्रणाली में निरंतरता लाने के लिए यूनियन एवं प्रबंधन पक्ष ने सार्थक चर्चा की और ठेका प्रणाली में निरंतरता के लिए आवश्यक कदम उठाने कहा। 

  4. कर्मियों के अटेंडेंस सिस्टम में किया जाएगा सुधार 

    अस्पताल कर्मियों का पेंचीदा अटेंडेंस सिस्टम अस्पताल कर्मियों के बीच चर्चा विषय बना हुआ है। वर्तमान में कर्मी सबसे पहले अपना बायोमैट्रिक्स अटेंडेंस लगाता है, उसके बाद सेंट्रल अटेंडेंस एच-1 वार्ड में जाकर लगाता है।अंत में अपनी उपस्थिति अपने अनुभाग में लगाता है। इस पूरी प्रक्रिया में लगभग आधे से पौना घंटा के समय लग जाता है। वर्तमान में ऐसी प्रक्रिया का अपनाएं जाना निरर्थक है।

  5. प्रमोशन पॉलिसी की खामियां होंगी दूर 

    अस्पताल कर्मियों की पदोन्नति एवं डीपीसी का मुद्दा भी उठा। कार्मिक प्रभारी ने विसंगतियों को शीघ्र दूर करने का आश्वासन प्रदान किया। वहीं अस्पताल के विशेषज्ञ डॉक्टरों की माइंस पोस्टिंग पर सीटू ने कहा माइंस कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर सेक्टर-9 में सुविधा है। विशेषज्ञ डॉक्टरों की माइंस पोस्टिंग विशेषकर मेडिसिन विभाग एवं अन्य विभागों में विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी स्थिति को गंभीर बना रहा है। इस पर नीतिगत निर्णय लें। 

COMMENT