भिलाई-3 का सरकारी अस्पताल जर्जर ओपीडी व वार्ड में कुत्तों का आशियाना

Bhilai News - भिलाई-3 का शासकीय अस्पताल जर्जर हालत में है। दीवारों को छोड़ छत का प्लास्टर जहां-तहां गिरने लगा है। एक कमरे की छत का...

Oct 13, 2019, 06:35 AM IST
भिलाई-3 का शासकीय अस्पताल जर्जर हालत में है। दीवारों को छोड़ छत का प्लास्टर जहां-तहां गिरने लगा है। एक कमरे की छत का प्लास्टर गिरने से उसमें लगा सीलिंग फैन टूट गया है।

मुख्यमंत्री के घर से कुछ ही दूर स्थित इस शासकीय अस्पताल का ऐसा हाल तब भी, जब हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसर आए दिन यहां आते रहते हैं। सबसे बड़ी बात यह कि इस अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या जहां बहुत कम है, वहीं ओपीडी से लेकर वार्डों तक में मवेशी तक घुस आते है। वर्तमान में हर कमरे की छत का प्लास्टर जर्जर हो गया है, लेकिन सबमें पर्दे चमकदार लगे हैं। जिस कमरे की छत का प्लास्टर गिरने से उसमें लगा पंखा आज भी बदहाल हाल में पड़ा है, उस कमरे की खिड़कियों में भी अच्छी क्वालिटी के पर्दे लगवाए गए हैं। जहां-तहां आवारा ं कुत्तों ने अपना अशियाना बना लिया है।

तब भी ऐसा हाल : जब अधिकारियों का अक्सर दौरा..

जितने में इस कमरे में पर्दे लगवाए गए, उतने पैसे में अस्पताल के हर कमरे में नए पंखे लगाए जा सकते थे।..

प्रसव, टीकाकरण और भर्ती की सुविधा, निगम भी ध्यान नहीं देता...

भिलाई-3 का प्रमुख शासकीय अस्पताल होने के नाते अस्पताल में प्रसव, टीकाकरण से लेकर भर्ती करने जैसी सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। इसके बाद भी मरीजों तथा स्टाफ की सुरक्षा का किसी को भी ख्याल नहीं है। स्वयं और मरीजों को खतरे में डालकर यहां के डॉक्टर उपचार कर रहे हैं। स्थानीय निगम भी इस अस्पताल की बेहतरी के लिए अपनी जिम्मेदारियों को नहीं पूरा करता है। जबकि यही प्रमुख अस्पताल है।

100 से ज्यादा मरीजों की डेली ओपीडी फिर भी लापरवाही जारी..

इस अस्पताल की दैनिक ओपीडी 100 मरीजों से ज्यादा है, फिर भी हालात को बेहतर करने में लापरवाही जारी है। टूटा प्लास्टर मेंटिनेंस कराना तो दूर की बात सबने बदहाल हुए पंखे को भी जस का तस छोड़ दिया है। ऐसा तब भी जब भिलाई-3 ही नहीं आस-पास के गाव-गिराव से ही भी बीमार इसी अस्पताल में आते हैं। निकट के 15 से 20 किमी तक से महतारी एक्सप्रेस डिलिवरी के लिए यही आती हैं।

  डॉ आशीष शर्मा, बीएमओ, पाटन

मेंटेनेंस के लिए लिखा गया, बजट नहीं मिला


- निरीक्षण के लिए अक्सर मेरा वहां जाना होता है। बीएमओ का पदभार लेने के बाद कई बार गया हूं।


- भिलाई-3 अस्पताल की बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है। उसके मेंटेनेंस के लिए सीजीएमएससी को दो बार लिखा गया है।


- अगर ऐसा है तो इसके लिए निगम को चिट्ठी लिखकर मवेशियों को पकड़वाया जाएगा। यह गलत है। प्रभारी को भी चेतावनी देंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना