• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • Bhilai News chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
विज्ञापन

पूरे फोरलेन पर दोपहिया व पैदल चलने वालों के लिए विकल्प खत्म, इसके लिए पुख्ता प्लानिंग तो छोड़िए.. बैरिकेडिंग और स्टॉपर जैसे अस्थाई समाधान तक नहीं

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 06:45 AM IST

Durg Bhilai News - नेहरू नगर से लेकर कुम्हारी चौक तक अब आपको फोरलेन में सर्विसलेन नहीं मिलेगा। आपको भारी वाहनों के साथ ही फोरलेन पर...

Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
  • comment
नेहरू नगर से लेकर कुम्हारी चौक तक अब आपको फोरलेन में सर्विसलेन नहीं मिलेगा। आपको भारी वाहनों के साथ ही फोरलेन पर ही चलना होगा। सबसे ज्यादा दिक्कत शहर के उन लोगों को होगी जो छोटे-बड़े कामों के लिए सर्विसलेन पर चलते है। अब उन्हें हादसों की संभावनाओं के बीच से होकर गुजरना पड़ेगा। ऐसा नहीं कि सर्विसलेन को लेकर जिम्मेदारों के पास कोई समाधान नहीं है। नेशनल हाइवे अथॉरिटी से लेकर ट्रैफिक पुलिस, जिला प्रशासन और नगर निगम प्रशासन के पास समाधान है। मगर जिम्मेदारों की इच्छाशक्ति खत्म हो गई है, ऐसा लग रहा है। क्योंकि तीन महीने से सर्विसलेन को फोरलेन में मर्ज करने की तैयारी चल रही है। तब से किसी ने भी गंभीरता से इस समस्या का समाधान नहीं किया। अब सुपेला एरिए तक सर्विसलेन को फोरलेन में मर्ज कर दिया है। जिससे बड़ी परेशानी होने वाली है।

वहीं इसकी वजह से नेशनल हाइवे में हादसे भी बढ़ रहे हैं। पुलिस के आंकड़े भी इस बात की पुष्टि कर रहे हैं। हालांकि अब तक पुलिस प्रशासन ने इसे लेकर कोई संज्ञान नहीं लिया है। आने वाले दिनों में स्थिति और बिगड़ सकती है।

अभी नहीं सुधरे हालात तो और बिगड़ेगी स्थिति: भिलाई की 10 लाख आबादी की किसी को परवाह तक नहीं

हर मिनट हादसे की आशंका है, क्योंकि...

सुपेला से लेकर पॉवर हाउस तक शहर के दोपहिया वाहन चलाने वाले और पैदल चलने वालों के लिए सर्विसलेन नहीं है। फोरलेन से अचानक गाड़ी उतर जाती है। कई बार तो आमने-सामने दो गाड़ी टकरा रही है। क्योंकि यहां न तो संकेतक है और न बेरिकेड्स है।

शहर के ट्रैफिक को लेकर किसी को चिंता नहीं, क्योंकि...

शहर सरकार हमेशा डालती रही पर्दा: सुपेला से लेकर चंद्रा-मौर्या और पॉवर हाउस रेलवे स्टेशन तक के हिस्से में हुए इस भ्रष्टाचार पर निगम के अधिकारियों ने कभी ध्यान नहीं दिया। गलती सुधारने की कोशिश ही नहीं हुई। चर्चा है कि अफसरों की एक बड़ी लॉबी आज भी निगम में इसकी लीपापोती में आज भी जुटी है। अब आयुक्त ने परीक्षण के लिए कहा है।

इससे शहर में बढ़ रहे हादसे...

पिछले तीन महीने में सर्विसलेन नहीं होने की वजह से शहर में हादसों की संख्या में वृद्धि हुई है। डायल-112 को अब तक इसी रूट पर होने वाले हादसों की सूचना मिल रही है। जिन्हेें उन्होंने अस्पताल पहुंचाया है।

22 करोड़ का प्रपोजल पर हुआ कुछ नहीं: नेहरू नगर से लेकर पॉवर हाउस चौक तक रेलवे लाइन के पैरलर दोपहिया वाहन चालकों के लिए सड़क बनाने की योजना निगम की थी। 22 करोड़ रुपए का प्रपोजल भी भेजा गया। तब तर्क दिया गया कि, इस सड़क से जीई रोड में ट्रैफिक का दबाव कम होगा। मगर इसके लिए राशि का प्रावधान अब तक नहीं हुआ।

इसके लिए समाधान पर हमने की जिम्मेदारों से सीधी बात: लेकिन किसी के पास प्लान नहीं, सब कह रहे, देखते हैं...




अंकित आनंद, कलेक्टर, दुर्ग

मैं जानकारी लेकर आपको बताता हूं...

ताम्रध्वज साहू, प्रभारी मंत्री, दुर्ग

अब जनता को नहीं होगी कोई परेशानी...






जयंत वर्मा, सब इंजी., नेशनल हाइवे

जल्द ही मिलकर करेंगे समाधान...







बलराम हिरवानी, एएसपी ट्रैफिक

मैं 3 दिनों में इसे ठीक करवाता हूं...

सर्वे: रोजाना 20 हजार से ज्यादा वाहन गुजरते हैं

15 किमी तक सर्विसलेन को फोरलेन से मर्ज किया है। यहां रोजाना 20 हजार वाहन गुजरते हैं।

20 हादसे रोज होते हैं नेहरू नगर से कुम्हारी तक। ये पुलिस विभाग का एक सर्वे रिपोर्ट है।

90 दिन से हाइवे में चलने वाले लोगों को दिक्कतें हो रही है। बावजूद किसी ने ध्यान नहीं दिया।

बड़ा सवाल? हर काम को 2 बार क्यों कर रहे?

नेशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया पीडब्ल्यूडी कुम्हारी से लेकर नेहरू नगर तक फोरलेन को मेंटेनेंस कर रहा है। इसको लेकर एक सवाल उठ रहा हे कि हर काम को आखिर दो बार करने की जरूरत क्यों पड़ रही है? क्योंकि जिस हाइवे को तीन महीने पहले डामरीकरण किया गया, उसे अभी क्यों करना पड़ रहा है? वहीं हाइवे में स्टोन गर्डर लगाया गया था। वह टूट गया। इसके लिए प्लानिंग क्यों नहीं की गई कि उसे तोड़ना न पड़े? कहीं इन सबके पीछे कोई कमीशनखोरी तो नहीं है? क्योंकि एनएच अपने हर दूसरे कार्य को दो से तीन बार कर रहा है।

Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
  • comment
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
  • comment
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
  • comment
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
  • comment
X
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
Bhilai News - chhattisgarh news finish the option for two wheelers and pedestrians on the whole of the forelines leave it to be a very strong planning do not even have a temporary solution like barricading and stopper
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन