2008 के बाद पहली बार 19, 20 और 21 अक्टूबर को गिरा पानी, 40 फीसदी सब्जी की फसल बर्बाद

Bhilaidurg News - लगातार तीन दिन हुई बारिश से सब्जी की फसलों को सबसे अधिक नुकसान हुआ है। टमाटर के नए फल झड़ गए हैं। धनिया की पत्तियां...

Bhaskar News Network

Oct 22, 2019, 06:40 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news for the first time since 2008 water fell on october 19 20 and 21 40 percent vegetable crop wasted
लगातार तीन दिन हुई बारिश से सब्जी की फसलों को सबसे अधिक नुकसान हुआ है। टमाटर के नए फल झड़ गए हैं। धनिया की पत्तियां मिट्‌टी लगने से सड़ने लगी है। बैगन में फल छेदक कीड़े लग गए हैं। इससे सब्जी उत्पादक किसानों को सबसे अधिक हानि हुई है। वर्तमान में बाजार में भी सब्जी की आवक काफी कम बनी हुई है। बारिश से नुकसान के कारण ठंड के दिनों में यही स्थिति बन सकती है। फिलहाल किसान फसलों के नुकसान को लेकर काफी चिंता में हैं।

अक्टूबर में हुई बारिश का रिकार्ड

2008 में पानी नहीं गिरा।

2009 में 2, 3, 4 और 5 अक्टूबर को

2010 में 3, 10, 17 और 23 अक्टूबर को

2011 में 6, 10, 11 और 12 अक्टूबर को

2012 में 2, 3 और 4 अक्टूबर को

2013 में 1, 2, 3, 5, 8, 9, 10 व 11 को

2014 में 13 और 14 अक्टूबर को

2015 में पानी नहीं गिरा।

2016 में 3, 6, 7, 8, 9 और 10 अक्टूबर को

2017 में 2, 7, 8, 9, 10 और 11 को

2018 में का रिकार्ड विभाग के पास नहीं है।

2019 में 6, 7, 18, 19, 20 और 21 अक्टूबर को पानी गिरा है।

बारिश का असर : टमाटर, सोयाबीन और धान के बीज की क्वालिटी होगी खराब

चूजों और अंडों के उत्पादन पर भी पड़ेगा असर : डॉ. दीनानी

कामधेनु विश्वविद्यालय के हेचरी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. ओमप्रकाश दीनानी ने कहा कि मौसम में सडन चेंज होने का सीधा असर चूजों और अंडों के उत्पादन में पर पड़ा है। चूजों को अतिरिक्त तापमान की जरूरत पड़ रही है। चूजों के एक दूसरे के ऊपर लोट ने से मरने की संभावना रहती है। इससे बचने के लिए कंडे जलाने होंगे या फिर हैलोजन बल्ब जलाकर रखना होगा।

सरगुजा से आएगी तेज हवा, तब बदलेगी दिशा: चंद्रा

रायपुर मौसम विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक हरिप्रसाद चंद्रा ने कहा कि अभी पूर्वी और दक्षिण पूर्वी हवा अपने साथ नमी लेकर आ रही है। इससे बारिश हुई और आने वाले दिनों में आसमान में आंशिक बादल छाए रहेंगे। हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। सरगुजा डिविजन से जब तक ठंडी हवा का तेज झोंका आने के बाद हवा की दिशा बदलेगी और ठंड बढ़ेगी। अभी 23 तक बादल छाए रहेंगे। सोमवार को भी दिनभर आसमान में बादल छाए रहे, लेकिन बारिश नहीं हुई।

मिर्ची में वाइरस बढ़े, गोभी में ब्लैक राख लगा: पुन्नी दास

भट्‌ट कृषि फार्म के संचालक पुन्नी दास भट्ट ने बताया कि पानी से सब्जियों के फसल को 30 से 40 फीसदी हानि हुई है। अभी टमाटर में फल लगने वाले थे। पानी से सभी छोटे फल गिर गए। गोभी में ब्लैक राख लगने लगा है। बादलों के कारण उसका रंग बदल रहा है। मिर्ची में वाइरस बढ़ गए हैं। भंटा में फल छेदक कीट लगने लगे हैं। धनिया की पत्तियां मिट्टी लगने से सड़ रही हैं।

धान पर भूरा माहो और तना छेदक का होगा प्रकोप : दास

इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विभाग के संचालक डॉ. जीके दास ने कहा कि इन दिनों हुई बारिश से काट कर रखी फसल को सबसे अधिक नुकसान होगा। खड़ी फसल पर भी ब्राउन लीफ हार्पर (भूरा माहो) और तना छेदक कीट का प्रकोप होने की आशंका है। इससे धान के बीज की क्वालिटी पर सबसे अधिक असर होगा। इसके पुन: उत्पादन होने की संभावना बहुत कम रहेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में किसान इसे लेकर परेशानी हैं। बड़ी मुश्किल से फसल लगाई थीद्ध

X
Bhilai News - chhattisgarh news for the first time since 2008 water fell on october 19 20 and 21 40 percent vegetable crop wasted
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना