ईश्वर नियम नहीं भाव के भूखे हैं, मन में श्रद्धा तो प्रभु मिलेंगे: मोनू

Bhilaidurg News - धमधा के पास ग्राम हाथीडोब में चल रहे श्रीमद्भागवत कथा के पहले दिन मंगलाचरण, शुकदेव जन्म, राजा परीक्षित जन्म और...

Feb 15, 2020, 06:46 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news god is not a rule but is hungry for emotion reverence in the mind will meet god monu

धमधा के पास ग्राम हाथीडोब में चल रहे श्रीमद्भागवत कथा के पहले दिन मंगलाचरण, शुकदेव जन्म, राजा परीक्षित जन्म और श्राप की कथा हुई। इसमें प्रवचनकर्ता संत निरंजन महाराज के शिष्य आचार्य मोनू महाराज ने कहा, ये जीव ही परीक्षित है और जीवन में आने वाला काल ही तक्षक का स्वरुप है।

जैसे अंतिम समय में राजा परीक्षित मुक्ति की प्राप्ति के लिए शुकदेव जी के शरणागत हुए, वैसे ही हम सभी को भी परीक्षित बनने की आवश्यकता है। कन्हैया अवश्य ही शुकदेव स्वरूप में आकर बार-बार आवागमन के चक्र से मुक्ति दिलाएंगे। आज के दौर में लोगों में सबसे ज्यादा विश्वास की कमी है, इसी कारण लोग भक्ति के मार्ग को छोड़कर ढोंग और आडंबर में फंसते जा रहे हैं। आचार्य मोनू ने कहा कि जब तक जीवन में सत्य की शरणागति नहीं होगी, तब तक ईश्वर से साक्षात्कार संभव नहीं है। हरि का नाम ही सत्य है, बाकी सभी मिथ्या है। आज लोगो के अंदर भगवान की भक्ति से ज्यादा भगवान के प्रति डर समाहित हो चुका है कि यदि हम ये न किया तो भगवान नाराज हो जाएंगे।

कलशयात्रा भी निकाली गई।

X
Bhilai News - chhattisgarh news god is not a rule but is hungry for emotion reverence in the mind will meet god monu
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना