बीएसपी में एक ही पास से कई एरिया में ठेका श्रमिकों से कराया जा रहा काम, यह नियम विरूद्ध : एचएमएस

Bhilaidurg News - भिलाई श्रमिक सभा एचएमएस के अध्यक्ष एचएस मिश्रा ने बीएसपी प्रबंधन पर सांठगांठ कर ठेका श्रमिकों का शोषण किए जाने...

Feb 15, 2020, 06:46 AM IST

भिलाई श्रमिक सभा एचएमएस के अध्यक्ष एचएस मिश्रा ने बीएसपी प्रबंधन पर सांठगांठ कर ठेका श्रमिकों का शोषण किए जाने का आरोप लगाया है।

उनका कहना है कि एक ही गेट पास के माध्यम से ठेका श्रमिकों से कई एरिया में काम कराया जा रहा है। इवोटेक, एसपीएस, एचईसी,ईपीआई, व अन्य कई कंपनियों में पिछले 2 से 7 माह का वेतन भी नही मिला है। बिना रजिस्टर्ड पेटी कॉन्ट्रेक्टर लोग बड़ी कंपनी के द्वारा जारी प्रवेश पत्र के आधार पर प्लांट के अंदर कई आपराधिक गतिविधियों में लिप्त हो जाते है। संयंत्र के अंदर गांजा, शराब का सेवन कर नियमित वर्करों के रेस्ट रूम में गंदगी फैलाते है। विभागीय स्टोर में कीमती सामान को गायब करना, व मशीनों का नंबर मिटाकर इधर से उधर किया जाता है। पता चला है कि कई टेलरों में व गाडिय़ों में बाडी व चैचिस के बीच बाक्स बनाकर कीमती सामान को पार किया जाता है।

काम छोड़ने पर प्रबंधन पर बढ़ जाता है बोझ

एल-1 रेट पर ठेका लेकर कई पेटी कॉन्ट्रेक्टर व कंपनी मजदूरों का वेतन रोकर काम छोड़ कर चले जाते है, जिसकी भरपाई बीएसपी को करनी पड़ती है और दोबारा उसी काम के लिए टेंडर जारी किया जाता है। श्रमिकों का गेटपास भी अलग-अलग ठेकेदारों के द्वारा बनाने के कारण नियमित कार्य की कंपनी में होने के बावजूद श्रमिक बहुत सी सुविधाओं से वंचित है।

कंपनियां 10-10 पेटी कांट्रैक्टर रख रही

कई बड़ी कंपनियां दस-दस पेटी कॉन्ट्रेक्टर रखते हैं, जिनके पास केवल फिटर, रीगर, वेल्डर का पास होता है, उन्हें सुपरवाइजर बना कर उन्हीं के लेबर से अलग-अलग विभागों में काम कराया जा रहा है। एसएमएस-1, एसएमएस-2 में हाई टेक कंपनी का रिफ्रैक्टरी सप्लाई व लैडर रेडी का ठेका है जो दूसरे के लेबरों के द्वारा काम कराया जा रहा है, जो रजिस्टर्ड नही है।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना