आय घटेगी, प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा भिलाई निगम अब चौथे नंबर पर

Bhilai News - इधर, जामुल पालिका को नगर निगम भिलाई में जोड़ने उठी आवाज पाॅलिटिकल रिपोर्टर | भिलाई नगर निगम भिलाई के 13 वार्डों...

Nov 21, 2019, 06:41 AM IST
इधर, जामुल पालिका को नगर निगम भिलाई में जोड़ने उठी आवाज

पाॅलिटिकल रिपोर्टर | भिलाई

नगर निगम भिलाई के 13 वार्डों को मिलाकर रिसाली निगम अस्तित्व में आएगा। पहले प्रस्तावित रिसाली निगम में एक गांव को भी शामिल करने की तैयारी थी लेकिन अब सिर्फ 13 वार्डों से ही निगम बनाया गया है। 2020 के फरवरी-मार्च में भिलाई निगम के साथ रिसाली क्षेत्र के वार्डों का परिसीमन होगा। भिलाई निगम के सीनियर अफसर कहते हैं कि, सबकुछ टाइम पर रहा तो दिसंबर 2020 में भिलाई निगम के साथ रिसाली निगम का पहला चुनाव होगा।

सरकार भी इसी तैयारी में है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने इसके संकेत भी दिए। वैसे भिलाई अब राजस्व और क्षेत्रफल की दृष्टि से छोटा निगम हो जाएगा। राजस्व के मामले में भिलाई (438 करोड़) दूसरे नंबर पर है। अब तीसरे नंबर पर आ सकता है। वहीं क्षेत्रफल की दृष्टि से रायपुर और कोरबा के बाद भिलाई (154वर्ग किमी)तीसरे नंबर पर है। 54 वर्गकिमी कम होने से चौथे नंबर पर आएगा। इधर सीनियर पार्षद वशिष्ठ नारायण मिश्रा ने जामुल पालिका को भिलाई निगम में शामिल करने मांग रखी है।

भिलाई का बदला भूगोल: 13 वार्ड कम होकर 57 वार्डों का होगा भिलाई निगम

भिलाई निगम से कटकर बना रिसाली नया निगम

रिसाली निगम

जनसंख्या 1.05 लाख है

क्षेत्रफल 52 वर्ग किमी

भिलाई निगम

जनसंख्या 5.26 लाख होगी

क्षेत्रफल 104 वर्ग किमी होगी

सालाना 8 करोड़ रुपए रिसाली जोन के वार्डों से होती है राजस्व आय

03.96 करोड़ रुपए सालाना प्रॉपर्टी टैक्स।

(ये सभी आंकड़े वित्तीय वर्ष 2018-19 को प्राप्त हुए)

इसलिए जल्दी: पांच दिन पहले दिल्ली गए मंत्री साहू आलाकमान से चर्चा होते ही सीएम हाउस से ऑर्डर

पिछले दिनों कुछ राजनीतिक अड़चन रिसाली निगम को लेकर आ रही थी। सबकुछ ठीक चल रहा था लेकिन अड़चनों को देखते हुए गृहमंत्री साहू सीधे दिल्ली रूख किए। पांच-छह दिन पहले दिल्ली में कांग्रेस के आलाकमान से मुलाकात हुई। मुलाकात में रिसाली को निगम बनाने पर चर्चा हुई। दिल्ली से ही ऑर्डर दिया गया कि रिसाली को मंजूरी दी जाए।

97.94 लाख रुपए कर मिलता था।

13 से 40 वार्डों वाला होगा रिसाली

वार्ड-63 रुआबांधा बस्ती

वार्ड-59 रिसाली सेक्टर दक्षिण

वार्ड-61 रिसाली प्रगति नगर

वार्ड-60 रिसाली बस्ती

वार्ड-58 रिसाली सेक्टर उत्तर

वार्ड-43 स्टेशन मरोदा

वार्ड-42 नेवई भाठा

81.14 लाख रुपए शिक्षा उपकर।

वार्ड-44 मरोदा कैम्प

75.63 लाख रुपए जलकर के रूप में मिला।

वार्ड-45 मरोदा से.

06.50 करोड़ रुपए कुल आय रिसाली जोन से

वार्ड-39 पुरैना

वार्ड-40 जोरातराई

04.92 करोड़ रुपए सालाना खर्च हो रहा था।

बॉर्डर: मैत्रीबाग बनेगा भिलाई और रिसाली की सीमा एमडी बंगला हुडको आएगा भिलाई के हिस्से में

भिलाई निगम और रिसाली निगम की सीमा मैत्रीबाग के सामने से जाने वाली रोड से तय होगी। फॉरेस्ट एवेन्यू से मैत्रीबाग जाने वाली रोड भिलाई निगम के हिस्से में आएगी। मरोदा सेक्टर रिसाली निगम के हिस्से में आएगा। एमआईसी मेंबर केशव बंछोर और कोषाध्यक्ष राकेश मिश्रा ने कहा कि, गृहमंत्री साहू ने जनता से किया वादा पूरा कर दिया है।

बड़े वार्डों को काटकर बनाएंगे 70 वार्ड

70 वार्ड वाले भिलाई निगम के 13 वार्ड कम हो जाएंगे। अब 57 वार्ड बचे हैं। रिपोर्ट तैयार करने वाले अफसर बताते हैं कि भिलाई 70 वार्डों वाला ही रहेगा। बड़े वार्डों को परिसीमन कर छोटा किया जाएगा। अभी 8 हजार औसत आबादी है। संभवत: 4 से 5 हजार की आबादी एक-एक वार्डों की हो सकती है। यह भी कहा जा रहा है कि इसे 60 वार्ड रखा जाए।

इसलिए भिलाई को अलग कर बना रहे रिसाली निगम


आगे क्या: दावा-आपत्ति के बाद फाइनल प्रकाशन

वार्डों का परिसीमीन

दावा-आपत्ति के बाद फाइनल राजपत्र में प्रकाशन होगा। फिर 13 वार्डों का परिसीमन होगा। अभी 13 वार्ड है जो काफी बड़े है। इन 13 वार्डों को 40 वार्डों में बांटा जाएगा।

यह मेरा ड्रीम प्राेजेक्ट है, शुरू से ही लगा था, इससे क्षेत्र का विकास होगा, भिलाई के साथ चुनाव की तैयारी...



स्थापना और भवन

परिसीमन और सरकार के ऐलान के बाद रिसाली जोन दफ्तर में ही रिसाली निगम संचालित होगा। प्रभारी आयुक्त की जिम्मेदारी भिलाई निगम में पदस्थ किसी अफसर को मिल सकती है।


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना