दूसरों से अपेक्षाएं रखना छाेड़ें, खुद पर भरोसा है तो सफल होंगे: प्राची

Bhilai News - प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा बोरसी के प्रगति मैदान में शांत मन व शक्ति शिविर का आयोजन...

Dec 11, 2019, 07:40 AM IST
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय द्वारा बोरसी के प्रगति मैदान में शांत मन व शक्ति शिविर का आयोजन किया जा रहा। इसमें मंगलवार को वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका ब्रह्माकुमारी प्राची दीदी ने कहा कि जितना हम अंदर से स्वच्छ व साफ रहेंगे, उतना ही भगवान की नजदीकता का अनुभव करेंगे।

प्राची दीदी ने कहा कि मैले विचारों से परमात्मा की शक्ति को अनुभव नहीं किया जा सकता। हमारे श्रेष्ठ विचारों और भावनाओं की शक्ति से हमारा जीवन बदल जाता है। जब हम भगवान के साथ को भूल जाते हैं तो दूसरों से अपेक्षा रखते और वह हमारे अपेक्षाओं में खरे नहीं उतरते है। जिससे मन अशांत होता है। हमारे शुभ विचारों की शक्ति से श्रेष्ठ वातावरण का निर्माण होता है और जो भी हमारे संपर्क में आता है उसे भी शांति खुशी की अनुभूति होती है। शिविर के आखिर में सभी को राजयोग मेडिटेशन के 2-2 मिनट का अभ्यास कराया जा रहा है।

शिविर रात तक चल रही। ठंड के बावजूद लोग इसमें हिस्सा ले रहे।

बुरे कर्मों को त्यागें, तभी परमात्मा से नजदीकी बढ़ेगी

जैसे कंप्यूटर को प्रॉपर शट डाउन करते हैं, वैसे ही रात्रि सोने के पूर्व हम भी दिन भर के अच्छे बुरे कर्मों को परमात्मा को सौंप कर ही सोएं। आज यदि कोई एक-दो से आगे बढ़ जाता है तो ईर्ष्या द्वेष उत्पन्न होते हैं, लेकिन आध्यात्मिकता में यदि कोई हमसे आगे बढ़ता है तो खुशी और प्रसन्नता होती है। जिस मनोवृत्ति से हम कार्य करते हैं, वैसे ही परिस्थिति और वायुमंडल का निर्माण होता है और आज संसार में हर कोई स्वार्थ वाली मनोवृत्ति से कार्य कर रहे हैं बिना स्वार्थ के कोई भी काम नहीं करता। आध्यात्मिकता हमें निस्वार्थ कर्म करना सिखाती है। ऊर्जा का स्त्रोत परम शक्ति है तो हमें भी किसी मनुष्य आत्माओं से अपेक्षा रखने के बजाय उस परम शक्ति से ही राज योग मेडिटेशन द्वारा शक्ति प्राप्त करनी है। राजयोग के अभ्यास से मन का शांति मिलेगी। शरीर भी पूर्णत: स्वस्थ रहेगा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना