सक्ती में सबसे अधिक 66 मिमी बारिश, सपनाई और तिराइन नाला पुल के ऊपर से बह रहा पानी

Bhilaidurg News - सक्ती | मंगलवार की सुबह से लेकर बुधवार की सुबह तक जिले में 36.2 मिमी औसत बारिश दर्ज की गई। सबसे अधिक बारिश इस दौरान...

Bhaskar News Network

Aug 15, 2019, 08:25 AM IST
Sakti News - chhattisgarh news maximum 66 mm rain in sakti water flowing above sapnai and tirine nala bridge
सक्ती | मंगलवार की सुबह से लेकर बुधवार की सुबह तक जिले में 36.2 मिमी औसत बारिश दर्ज की गई। सबसे अधिक बारिश इस दौरान सक्ती क्षेत्र में हुई। 24 घंटे की अवधि में 66 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ। इस क्षेत्र के तिराइन और सपनाई नाला पुल के ऊपर पांच फीट पानी बहता रहा। इसके कारण आसपास के गांवों का सक्ती नगर से संपर्क टूट गया, वहीं पानी अधिक होने के कारण धान के खेत भी डूब गए।मौसम विभाग द्वारा मंगलवार को प्रदेश भर में भारी बारिश की चेतावनी दी गई थी। इस दौरान जिले में 36.2 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। सबसे अधिक प्रभावित जिले का सक्ती ब्लॉक रहा। यहां मंगलवार की रात से तेज बारिश शुरू हो गई थी। रात में ही नगर के वार्ड नंबर 3 और वार्ड नंबर 4 में नाली की सफाई नहीं होने के कारण नाली का पानी घरों में घुस गया। लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। बुधवार को भी दिन में रुक रुक कर बारिश हाेती रही।

तिराइन नाला पर सड़क के ऊपर पानी- मंगलवार की रात हुई बारिश का असर बुधवार को दिखा। ऊपर का पानी क्षेत्र के नदी नालों में आया। दिन भर तिराइन नाला के पास बोरदा पुल के ऊपर से पानी बहता रहा। इससे आसपास के गांव बगबुड़वा, आमापाली, पुजेरीपाली, बोरदा, सरवानी, पोरथा का संपर्क शहर से टूट गया लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।

एक साल पहले बनी पुलिया बह गई, ट्रेलर घुसा, ड्राइवर की मौत

रायगढ़| घरघोड़ा-तमनार के बीच बन रही सड़क के बीच बनी पुलिया बह गई, यहां मंगलवार की रात कोयले से लदा ट्रेलर घुस गया। दुर्घटना में ड्राइवर की मौत हो गई। माना जा रहा है कि ड्राइवर अपनी सामान्य रफ्तार में था और सड़क के कटाव को देख नहीं पाया। यहां एक घंटे पहले ही एक कार भी बह गई थी लेकिन आसपास मौजूद ग्रामीणों ने उसमें सवार चार लोगों को बचा लिया था। ठेका कंपनी के लोग कह रहे हैं कि पानी का बहाव ज्यादा होने के कारण पुलिया बह गई।



जानकारी के अनुसार नागेंद्र यादव 28 साल निवासी झारखंड संदीप अग्रवाल घरघोड़ा का ट्रेलर चलाता था। मंगलवार की देर रात वह कोयले का लोड लेकर घरघोड़ा से तमनार की ओर जा रहा था।

देवगढ़ के पास बांधा पुलिया में ट्रेलर घुस गई और ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई। दरअसल मंगलवार की रात हुई बारिश से तमनार देवगढ़ के पास बना पुलिया एक घंटे पहले ही बह गई थी। घंटेभर पहले ही घरघोड़ा से तमनार जा रही एक कार भी बह गई थी। जिसे स्थानीय ग्रामीणों ने किसी तरह बचा लिया। मगर ट्रेलर ड्राइवर को कोई बचा नहीं सका।

एक्सपर्ट बता रहे यहां हुई गलती : साढ़े 12 मीटर की सड़क पर बने पुलिया में 3 ह्यूम पाइप लगाए गए थे। ह्यूम पाइप लगाने के बाद ना तो उसपर स्लैब लगाया गया और ना ही पानी के फ्लो को ध्यान में रखते हुए बड़े आकार के ह्यूम पाइप लगाए गए। इस कारण पानी लगातार किनारों को काटकर सड़क को अंदर से पोल करता रहा। नीचे से मिट्टी खाली होने के बाद जब उसपर कार का दबाव पड़ा तो वह बह गया।

घरघोड़ा पु‍लिस की लापरवाही

ट्रेलर ड्राइवर की मौत के बाद घरघोड़ा पुलिस के जवान मौके पर आए और उन्होंने सड़क ब्लॉक कर दिया। जबकि ग्रामीणों के अनुसार एक घंटे पहले जब कार बही थी। इस दौरान भी डायल 112 के स्टाफ मौके पर आए थे और वापस लौट गए। यदि इसी समय पर सड़क पर यातायात रोक दिया जाता तो हादसा नहीं होता।

रोड के बारे में

तमनार से घरघोड़ा लंबाई-12.30 किलोमीटर

लागत-17 करोड़ 8 लाख रुपए

काम शुरू हुआ-अप्रैल 2017

काम खत्म करने की तिथि-दिसंबर 2019

काम की वर्तमान स्थिति-90 प्रतिशत पूर्ण

ये हैं दोषी

पीडब्ल्यूडी के ईई एके दीवान, सब इंजीनियर डी के प्रधान, ठेका कंपनी हिलब्रो मेटालिक्स के सुशील अग्रवाल, घरघोड़ा पुलिस के डायल 112 के स्टाफ।

उर्दना-सीएमओ तिराहा के बीच बनी दो पुलिया भी ढहने के कगार पर

उर्दना-सीएमओ तिराहा के बीच बनी दो पुलिया भी ढहने के कगार पर है। पुल के दोनों ओर से मिट्टी पूरी तरह से कटकर निकल चुकी है। सुबह निगम के सभापति सलीम नियारिया और उपायुक्त पंकज मित्तल ने मौके का मुआयना किया। इसके बाद सड़क पर भारी वाहनों को बंद कराने को निर्देशित किया गया।

X
Sakti News - chhattisgarh news maximum 66 mm rain in sakti water flowing above sapnai and tirine nala bridge
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना