रायपुर में एक और पॉजीटिव, यहां चार में से तीन लंदन से लौटे, प्रदेश में 9 दिन में 7 केस

Bhilai News - धरसींवा: अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखा, भोज भी नहीं कराया संक्रमित युवक के संपर्क में आए 25...

Mar 29, 2020, 06:25 AM IST
धरसींवा: अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखा, भोज भी नहीं कराया

{संक्रमित युवक के संपर्क में आए 25 लोगों का सैंपल जांच के लिए एम्स भेजा

राजधानी रायपुर में शनिवार को कोरोना का चौथा पॉजीटिव मरीज मिला। इस केस के बाद प्रदेश में पीड़ितों की संख्या 7 हो गई है। नया संक्रमित 21 साल का युवक देवेंद्रनगर का रहने वाला है। वह लंदन से लौटा है। युवक की रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद उसे एम्स के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है। रायपुर लौटने के बाद वह माता-पिता के अलावा ड्राइवर और घरेलू सर्वेंट के अलावा 25 लोगों के संपर्क में आया। उन्हें संदिग्ध मानते हुए उनका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। वहीं कोराेना के संकट के बीच छत्तीसगढ़ के सभी सरकारी व निजी अस्पतालों के अलावा संस्थाओं में एस्मा लागू कर दिया गया है।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के अनुसार युवक 18 मार्च को रायपुर लौटा है। तबीयत बिगड़ने पर स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी। इसके बाद विभाग ने युवक को होम आइसोलेशन में रखकर उसका सैंपल जांच के लिए कलेक्ट किया। शनिवार को रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद एम्स में भर्ती करा दिया गया है। युवक अभी खतरे से बाहर है। इसके पहले भर्ती कराए गए समता कॉलोनी, रामनगर, बैरनबाजार के मरीजों की हालत भी खतरे से बाहर बताई जा रही है। एम्स के डायरेक्टर डॉ. नितिन एम. नागरकर ने बताया कि शनिवार को केवल एक रिपोर्ट पॉजीटिव आई है।

राहत }भिलाई में परिजन की रिपोर्ट निगेटिव

भिलाई | खुर्सीपार में कोरोना पॉजिटिव मरीज के सभी 7 परिजन की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कलेक्टर अंकित आनंद ने इसकी पुष्टि कर दी है। हालांकि पहले सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी उन्हें पूर्णत: संक्रमण मुक्त नहीं मान सकते हैं। इसलिए सबकी फिर से होगी। वहीं रायपुर के रामनगर, बैरनबाजार में कोरोना मरीजों के परिजनों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। राजनांदगांव व बिलासपुर के मरीजों के संपर्क में आने वालों की रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है। ये पूरे प्रदेश के लिए राहत की खबर है। प्रदेश में अब तक विदेश से लौटने की बात छिपाने व होम आइसोलेशन में रहने के बावजूद बाहर घूमने के कारण 27 लोगों के खिलाफ केस दर्ज की जा चुकी है।

सख्ती }गेहूं व आटे में राहत, सब्जी भी सस्ती

कोरोना संकट के बीच लगातार गरीबों और आम लोगों तक राशन अनाज की दिक्कतों पर सरकारें फोकस कर रही हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भारतीय खाद्य निगम से इस आपात स्थिति में गेहूं बेचने का आग्रह किया था। एफसीआई ने बिक्री के लिए 7250 मीट्रिक टन गेंहूं दिया है। इसके लिए रेट भी निर्धारित किए गए हैं। आम लोग निर्धारित दर पर आटा और गेहूं खरीद सकेंगे। वहीं सब्जियों को लेकर सरकार सख्त हो गई है और इसका सीधा असर शनिवार को देखने को मिला। जिला प्रशासन कई जगह हरकत में आया, तो सब्जियों के बढ़े हुए दाम वापस हुए। सरकार की मानें तो जो भिंडी, बैगन, गोभी इत्यादि सब्जियां 40 रुपए किलो मिल रही थी, वह 20 रुपए हो गई है।

सख्ती }इलाज से इंकार किया तो होगी कार्रवाई

कोराेना के संकट के बीच छत्तीसगढ़ के सभी सरकारी व निजी अस्पतालों के अलावा संस्थाओं में एस्मा लागू कर दिया गया है। कोरोना के इलाज के लिए सरकारी या निजी अस्पताल इंकार नहीं कर पाएंगे। ऐसी स्थिति बनने पर जिम्मेदार के खिलाफ सरकार कानूनी कार्रवाई कर सकती है। प्रदेश सरकार ने एस्मा (एसेंशियल सर्विसेस मेंटेनेंस एक्ट) में 10 बिंदुओं को शामिल किया है, जिसमें सभी तरह की स्वास्थ्य सेवाएं, डॉक्टर, नर्स व स्वास्थ्य कर्मी, अस्पतालों में काम करने वाले स्वच्छता कार्यकर्ता, दवा और मेडिकल उपकरणों की बिक्री, मेंटेनेंस व परिवहन, एंबुलेंस, पानी-बिजली आपूर्ति, सुरक्षा सेवा, खाद्य व पेयजल प्रावधान व प्रबंधन और बीएमडब्ल्यू प्रबंधन शामिल हैं।

रिपोर्ट }अब तक 376 सैंपलों में 7 पॉजीटिव

अब तक प्रदेश से 376 संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें सात की रिपोर्ट पाॅजीटिव आई है, जबकि 369 की रिपोर्ट नेगेटिव रही। 80 से ज्यादा सैंपलों की रिपोर्ट आनी बाकी है। सबसे ज्यादा मरीज व संदिग्ध रायपुर में मिले हैं। 242 संदिग्धों में 4 को कोरोना की पुष्टि हुई है। जबकि दुर्ग दूसरे नंबर पर है। दुर्ग में 49 में एक मरीज मिला है। बिलासपुर व राजनांदगांव में 14-14 संदिग्धों में एक-एक मरीज की रिपोर्ट पॉजीटिव रही है। अधिकारियों का कहना है कि रायपुर या प्रदेश में कम्यूनिटी से वायरस फैलने की कोई जानकारी सामने नहीं आई है। रामनगर में जिस बुजुर्ग को कोरोना की पुष्टि हुई है, उसका बेटा ड्राइवर है। उसके मालिक दुबई से लौटे हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की समीक्षा

ये कैसी डिस्टेंसिंग } सब्जी बाजार को ‘आउट’ किया गया, पर सोशल डिस्टेंसिंग ही नहीं

पुलिस ने आरती उतारकर कहा-घर पर रहो

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव मुंबई गए थे। महाराष्ट्र में कोरोना का असर सबसे ज्यादा है। इसलिए ऐहतियातन 27 मार्च से 14 दिनों के होम-क्वॉरेंटाइन में चले गए हैं। उन्होंने विभाग की समीक्षा बैठक भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए की।

बिलासपुर में शनिवार को पुलिस ने घर से निकल रहे लोगों की आरती उतारकर कहा-अपने घर पर ही रहें, बाहर न िनकलें।

धरसींवा के परसतराई में बुजुर्ग महिला के अंतिम संस्कार में परिजनों ने सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा। अंतिम यात्रा में गिनती के लोग शामिल हुए और दूर-दूर बैठे, सैनिटाइजर का उपयोग किया गया और सामूहिक भोज नहीं कराया गया।

कोरोना की वजह से शहर में सभी स्थायी बाजारों को बंद कर दिया गया है। लोगों को सब्जियां उपलब्ध कराने के लिए निगम प्रशासन ने शहर में कुछ जगहों पर अस्थायी बाजार बनाया है। शास्त्री बाजार को बंद कर उसकी जगह बूढ़ापारा आउटडोर स्टेडियम में किसानों को अस्थायी जगह दी गई है, लेकिन यहां पहुंचे लोगों ने सोशल डिस्टेंशिंग का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना