ऐसी सरकार को चुनें जो जनता के हित में करे काम: सीटू

Bhilaidurg News - हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन सीटू ने विज्ञप्ति में बताया कि लोकतंत्र में चुनाव सबसे बड़ा पर्व होता है और इस...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 06:45 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news select a government that works for the benefit of the people citu
हिंदुस्तान स्टील एम्पलाइज यूनियन सीटू ने विज्ञप्ति में बताया कि लोकतंत्र में चुनाव सबसे बड़ा पर्व होता है और इस पर्व में सभी राजनीतिक दलों एवं ट्रेड यूनियनों को अपनी बात रखने का अवसर होता है। सीटू ने कर्मियों के बीच इस लोकसभा चुनाव को लेकर कुछ बातों को पर्चे के माध्यम से रखते हुए एक ऐसी सरकार को चुनने की अपील की है जो जनता के हित में काम करें। पर्चा के माध्यम से सीटू ने कहा कि अफोर्डेबलिटी क्लॉज पहले भी सेल के अफसरों सहित पूरे सार्वजनिक उद्योग के अफसरों पर सरकार द्वारा लगाया जाता रहा है। एक निश्चित समाधान के बाद उसे वापस भी ले लिया गया है। लेकिन यह कर्मियों पर कभी भी नहीं लगाया गया था। मौजूदा केंद्र सरकार के मंशा से ऐसा लगता है कि यह स्थाई रूप से कर्मियों पर अफोर्डेबलिटी क्लॉज लगाने का मंशा बना रहे हैं। शायद केंद्र सरकार यह चाहती है की इस्पात कर्मियों की स्थिति 1970 के पहले के जैसे हो जाए।

सीटू के पदाधिकारियाें ने बोरिया गेट के सामने कर्मियों काे पर्चा बांटा।

18 हजार रुपए के न्यूनतम वेतन पर भी सरकार मौन

सीटू ने अपने पर्चे में सवाल उठाया कि सरकार मजदूरों को न्यूनतम वेतन 18 हजार रुपए प्रति माह देने के मुद्दे पर मौन हैं जबकि सरकारी एजेंसियां ने ही इस रिपोर्ट को जारी कर दी है कि चार व्यक्ति का एक परिवार की बुनियादी जरूरतों को पूरा करने के लिए 18 हजार की जरूरत होती है।

श्रम कानूनों में बदलाव के लगातार प्रयास हो रहे

सीटू ने पर्चे में कहा कि केंद्र सरकार ने सत्तासीन होने के बाद से ही लगातार श्रम कानूनों में परिवर्तन करने की कोशिश की है। जिसके खिलाफ उन तमाम संशोधनों को रोकने के लिए देश भर के राष्ट्रीय ट्रेड यूनियनों एवं फेडरेशनों ने आंदोलन किए हैं। यदि इस सरकार को दोबारा मौका मिले तो श्रम कानून संशोधन को पारित करने की कोशिश कर जा सकती है।

X
Bhilai News - chhattisgarh news select a government that works for the benefit of the people citu
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना