जीवन का सबसे निश्छल समय बचपन ही होता है: पं. कुलेश्वर

Bhilai News - श्री राधाकृष्ण मंदिर प्रांगण परसाही में चल रहे पांच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे...

Feb 07, 2020, 07:10 AM IST
Jamgaon News - chhattisgarh news the best time of life is childhood pt kuleshwar

श्री राधाकृष्ण मंदिर प्रांगण परसाही में चल रहे पांच कुण्डीय गायत्री महायज्ञ एवं श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन भगवान श्रीकृष्ण की बचपन के निश्छल जीवन शैली का हृदयस्पर्शी व्याख्यान किया गया।

कथावाचक पंडित कुलेश्वर प्रसाद तिवारी ने भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का मनोरम दृश्यों का जीवंत व्याख्यान करते हुए कहा कि जीवन मे सबसे निश्छल अवधि बचपन का होता है। जीवन मे उलझा हुआ हर आदमी अपनी बचपन को याद करके मन आनंदित हो उठता है। बचपन मे न तो कोई स्टेटस सिम्बाल होती है न ही बहुत ज्यादा अपेक्षा, इसलिए बचपन आनंददायी होता है। कथा में पंडित ने कृष्ण की बाल लीला, माखन चोरी, पूतना मोक्ष, कालिया निग्रह, चीरहरण व गोवर्धन पूजा की कथा सुनाई। पूतना मोक्ष की कथा में कहा कि कंस द्वारा भेजी गई पूतना नाम की राक्षसी को भगवान श्री कृष्ण ने स्तनपान करते हुए मोक्ष दिया। भगवान अपने ग्वाल बालों के साथ माखन चोरी करते, जिसकी शिकायत सुन सुनकर माता यशोदा उन्हें सजा देती थी। हर बार वह कोई न कोई चमत्कार कर उन्हें आश्चर्यचकित करते रहते थे।

श्रीराधाकृष्ण मंदिर परसाही में गायत्री यज्ञ के साथ चल रही भागवत कथा।

X
Jamgaon News - chhattisgarh news the best time of life is childhood pt kuleshwar

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना