• Hindi News
  • Chhattisgarh
  • Bhilaidurg
  • Bhilai News chhattisgarh news the minister said we will have to wait till the revision of the dpe39s guide line and the financial revision of the company

मंत्री ने कहा: डीपीई की गाइड लाइन व कंपनी के आर्थिक हालात सुधरने तक करना होगा वेज रिवीजन का इंतजार

Bhilaidurg News - बीएसपी सेल के करीब 70 हजार अधिकारी और कर्मचारियों को वेज रिवीजन के लिए अभी और इंतजार करना होगा। फिलहाल कंपनी इस...

Dec 05, 2019, 07:50 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news the minister said we will have to wait till the revision of the dpe39s guide line and the financial revision of the company
बीएसपी सेल के करीब 70 हजार अधिकारी और कर्मचारियों को वेज रिवीजन के लिए अभी और इंतजार करना होगा। फिलहाल कंपनी इस स्थिति में नहीं है कि तत्काल वेज रिवीजन किया जा सके। बुधवार को यह जानकारी संसद में केंद्रीय इस्पात धर्मेंद्र प्रधान ने दी।

उन्होंने बताया कि सेल में एक नवंबर की स्थिति में 11604 अधिकारी और 59206 कर्मचारी कार्यरत हैं। इनके वेज रिवीजन को लेकर डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक इंटरप्राइजेस (डीपीई) द्वारा समय-समय पर गाइड लाइन जारी की जाती है। उस गाइड लाइन के अनुसार अफोर्डेबलिटी क्लॉज क्लियर होने और कंपनी की आर्थिक स्थिति बेहतर होने पर वेज रिवीजन किया जाएगा, जो बीते तीन वर्षों से लंबित पड़ा है। इंतजार करना होगा।

पिछले 13 वर्षों में कंपनी के नफा-नुकसान को जानिए

वर्ष प्रॉफिट

2006-07 9423

2007-08 11469

2008-09 9399

2009-10 10132

2010-11 7194

2011-12 5151

2012-13 3241

2013-14 3225

2014-15 2359

2015-16 7008

2016-17 4851

2017-18 759

2018-19 3338

नोट - आंकड़े करोड़ में

वह गाइड लाइन जो वेज रिवीजन में बन रहा रोड़ा

सब्र : सेल के 70 हजार कर्मियों का वेज रिवीजन 3 साल से लंबित

प्रॉफिट में आने 2 साल और धैर्य रखना पड़ सकता है

सेल को बीते 10 वर्षों में 54395 करोड़ का प्रॉफिट हुआ। लेकिन बीते वित्तीय वर्ष 2018-19 को छोड़कर पूर्व के तीन वित्तीय वर्ष 2015-16, 2016-17 और 2018-19 में कंपनी घाटे में रही। यही वेज रिवीजन लागू करने में आड़े आ रहा है। क्योंकि डीपीई ने साफ कर दिया है कि 10 वर्षों में कंपनी को अंतिम तीन वर्षों में प्रॉफिट में होना चाहिए। जबकि तीन साल बाद बीते वर्ष 3338 करोड़ के प्रॉफिट में रही। यानि दो साल के वित्तीय नतीजों का इंतजार करना पड़ सकता है।


सेल कर्मियों को हर महीने हो रहा है बड़ा नुकसान

अफसरों व कर्मियों का वेज रिवीजन एक जनवरी 2017 से ड्यू है। यानि कार्मिक तीन साल से रिवाइज्ड सैलरी का इंतजार कर रहे हैं। यह इंतजार जितना लंबा खींचता चला जाएगा, अफसरों व कर्मियों के लिए आर्थिक नुकसान वाला साबित होगा। बताया गया कि निर्धारित समय पर अफसरों का वेज रिवीजन हो जाता तो हर महीने 20 से 30 हजार और कर्मियों को 6 से 7 हजार बढ़ा वेतन मिलता। नए वेज रिवीजन में कार्मिकों को एरियर के भुगतान से भी वंचित रहना पड़ सकता है।

एचएससीएल में 27 साल बाद हुआ है वेज रिवीजन

इधर एचएससीएल में 27 साल बाद वेज रिवीजन हुआ है। इसके पूर्व 1992 में अंतिम बार वेज रिवीजन हुआ था। इसमें भी वेज रिवीजन का लाभ उन्हीं कार्मिकों को मिलेगा अक्टूबर 2019 को आन रोल रहने वालों का ही मिलेगा। इसके पूर्व जो कार्मिक रिटायर हो चुके हैं, वे नए वेज रिवीजन से वंचित हो जाएंगे। हालांकि यह बात भी सामने आई है कि कंपनी को कमजोर सैलरी स्ट्रक्चर के कारण नया मुखिया नहीं मिल रहा था। रिवीजन से स्ट्रक्चर में सुधार से समस्या दूर हो सकती है।

गाइड लाईन ही गलत है प्रधानमंत्री को लिखा पत्र


कंपनी कर्ज में है तो उसके लिए प्रबंधन ही जिम्मेदार


X
Bhilai News - chhattisgarh news the minister said we will have to wait till the revision of the dpe39s guide line and the financial revision of the company
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना