आंखें खोलने वाली तस्वीर...पानी अगर आज नहीं सहेजा तो स्थिति और भयावह होगी

Durg Bhilai News - जिले में मानसून को दस्तक दिए महीनेभर हो गए लेकिन मौसम बारिश के अनुकूल नहीं है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आने...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 06:50 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
जिले में मानसून को दस्तक दिए महीनेभर हो गए लेकिन मौसम बारिश के अनुकूल नहीं है। मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आने वाले तीन-चार दिनों में भी बारिश के लिए कोई सिस्टम नहीं बना है। जो चिंताजनक है। जिले में बारिश के आंकड़ें चौंकाने वाले हैं। 15 जून से लेकर 13 जुलाई तक दुर्ग जिले में 216.4 एमएम बारिश हुई है। जो औसत बारिश (322.3 एमएम) से 33% कम है। ठीक एक साल पहले आज ही के दिन के बारिश मीटर पर गौर करे तो बारिश का अंतर बहुत ज्यादा है। तब 13 जुलाई 2018 तक जिले में 487 एमएम बारिश हो चुकी थी। यानि आज की तारीख में 271 एमएम (55% ) बारिश जिले में कम हुई है। तांदुला में 20% पानी ही बचा है। सिंचाई व पेयजल संकट गहराएगा।

महमरा एनीकट: दुर्ग-भिलाई के लिए 10 दिन का पानी ही बचा

पिछले साल से जिले में 55% कम बारिश, खरखरा में 17% तो तांदुला में 20% पानी, सिंचाई और पेयजल के लिए रहेगा संकट

पानी की बर्बादी करने से पहले उन जलाशयों के सूखे के हालात भी जानिए जहां से आता है शहर के लिए पानी

तादुंला

आज: 10674.80 एमसीएफटी क्षमता है लेकिन अभी सिर्फ 2096 एमसीएफटी पानी है यानि 19.63 प्रतिशत अभी है

2018: 26.09% पानी था 15 जुलाई 2018 को। तब बारिश से पहले 13% पानी बचा था।

गोंदली

आज: 3410.152 एमसीएफटी पानी की क्षमता है बालोद जिले के इस जलाशय में। मगर 929 एमसीएफटी यानि 27.25 प्रतिशत अभी है।

2018: 41% तक पानी का स्टॉक 14 जुलाई 2018 तक था।

खरखरा

आज: 4919 एमसीएफटी क्षमता है जलाशय की। अभी 846 एमसीएफटी पानी यानि 16.96% स्टॉक है।

2018: 26.35% पानी का स्टॉक 2018 में था। 11% तक पानी का स्टॉक बारिश से पहले था।

खपरी

आज: 412.616 एमसीएफटी की क्षमता है बालोद जिले में आने वाले इस जलाशय की। मगर यहां सिर्फ 96.92 एमसीएफटी यानि 23.49% पानी का स्टॉक है।

2018: 7.75% पानी था 14 जुलाई 2018 की तारीख में।

कम बारिश का असर सीधे आपके जीवन पर... वह कैसे जानिए...

फसल: बारिश ज्यादा हो या कम इसका सीधा खेती-किसानी पर पड़ता है। दुर्ग के कृषि संयुक्त संचालक आरके राठौर कहते हैं, अगले दो-तीन दिन में बारिश की संभावना है। दुर्ग संभाग के 50% किसान बोनी कर चुके हैं। बाकी बारिश के इंतजार में है।

तांदुला जलाशय: 14 फीट पानी, सावन से उम्मीद, नहीं तो पेयजल संकट

पेयजल: शिवनाथ नदी के महमरा एनीकट में महज 10 दिन का पानी बचा है। रोजाना दुर्ग और भिलाई के लिए 100 एमएलडी पानी लिफ्ट हो रहा है। जिसे दोनों शहरों में सप्लाई किया जा रहा है। 10 दिनों के भीतर बारिश जरूरी है।

सेहत: इस बदले हुए मौसम का सीधा असर लोगों की सेहत पर भी पड़ रहा है। हल्की बारिश के बाद एडीज एक्टिव है। यह उसके ब्रीडिंग के लिए अनुकूल है। इसलिए खुले में पानी कलेक्शन करके न रखे। वहीं सर्दीी-खांसी, बुखार के मरीज बढ़ रहे हैं।

पारा भी चढ़ा, दिन में गर्मी ने किया परेशान

मौसम के बदलते मिजाज की वजह से पारा भी चढ़ने लगा है। मौसम विभाग ने शनिवार को दुर्ग जिले में अधिकतम तापमान 32.6 डिग्री दर्ज किया। वहीं न्यूनतम पारा 24.2 डिग्री रिकॉर्ड किया। जिले के किसी भी हिस्से में बारिश नहीं हुई है। विभाग का पूर्वानुमान है कि अभी बारिश के कहीं भी हालात नहीं है।

उम्मीद: धरती में नमी है अब नदी-तालाब भर जाएं

अब सावन की बारिश से लोगों को उम्मीद है। वैज्ञानिकों का दावा है कि अब तक जो बारिश हुई है, उससे धरती में नमी की मात्रा है। लेकिन नदी-तालाब और अंडर ग्राउंड वाटर रिचार्ज के लिए मुसलाधार बारिश होनी बाकी है। इससे काफी राहत मिलेगी।

Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
X
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
Bhilai News - chhattisgarh news the picture that opens the eyes if the situation is not saved today the situation will be frightening
COMMENT