जिस प्रोग्राम की मॉनीटरिंग पीएमओ कर रहा, उसका डाटा तक फीड नहीं

Bhilaidurg News - निक्षय पोर्टल में टीबी मरीजों से संबंधित डाटा फीड नहीं होने पर जिला स्वास्थ्य विभाग ने टीबी उन्मूलन का काम करने...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:25 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news the program which monitors the pmo does not feed its data
निक्षय पोर्टल में टीबी मरीजों से संबंधित डाटा फीड नहीं होने पर जिला स्वास्थ्य विभाग ने टीबी उन्मूलन का काम करने वाले 19 कर्मचारियों का वेतन रोक दिया है। डेढ़ साल से जिला क्षय रोग विभाग में डाटा इंट्री ऑपरेटर, एलटी और डीपीसी की नियुक्ति नहीं हो सकी है। टीबी उन्मूलन कार्यक्रम की मॉनीटरिंग स्वंय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं। इसमें जिले का डाटा अभी तक फीड नहीं हो सका।

जिले में टीबी के मरीजों की पहचान करने के साथ ही उसकी रोकथाम के लिए जिले में 19 कर्मियों को तैनात किया गया है। इन कर्मियों को डाटा फीड करने के लिए टेबलेट दिया गया है। कर्मचारियों ने टेबलेट में प्रतिदिन का डाटा फीड नहीं किया है। वित्त वर्ष खत्म होने पर प्रदेश के साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर टीबी के मरीजों का आंकड़ा मांगा जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के पास डाटा फीड नहीं होने के कारण आंकड़े मौजूद नहीं है। इसके चलते जिम्मेदारों ने कर्मियों का वेतन रोक दिया है।

कई साल से एक्स-रे मशीन भी बंद,कोई एक्शन नहीं

कई साल से एक्स रे मशीन बंद पड़ी है।

टीबी मरीजों के चेस्ट एक्स-रे के लिए जिला क्षय रोग विभाग में 300 एमएच की लगाई गई एक्स-रे मशीन पिछले कई साल से खराब पड़ी है। इसे बनवाने के लिए किसी वरिष्ठ अधिकारी या जिला कार्यक्रम प्रबंधन ने अब तक कोई प्रयास नहीं किया है। लंबे समय में मेंटेनेंस नहीं होने के कारण मौजूदा समय में यह मशीन कंडम हाल में पहुंच गई है। इससे चलाने की कोई अधिकारिक गुंजाइश नहीं दिखाई देने के कारण कर्मचारियों ने उसके कक्ष में दवाइयों के बक्से भर दिए हैं।

डीपीसी और एलटी के बिना विभाग, कोई पूछने वाला नहीं

टीबी उन्मूलन कार्यक्रमों की निगरानी के लिए क्षय रोग विभाग में डीपीसी (डिस्ट्रिक प्रोग्राम को-आर्डिनेटर) की नियुक्ति होती है, जो कि पिछले एक साल से यहां अटकी है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग ने पात्रों को सप्ताह भर में इंटरव्यू कॉल करने का भरोसा देकर आवेदन तो मांगा लेकिन इंटरव्यू आज तक काॅल नहीं किया। यही नहीं जिला क्षय रोग विभाग में डेढ़ साल से एलटी(लैब टेक्निशियन)के रिक्त पद को भरने की भी कोशिश नहीं हुई है। वेतन नहीं मिलने के कारण टीबी उन्मूलन कार्यक्रम में संविदा नियुक्ति पर तैनात कर्मचारियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

  डॉ. गंभीर सिंह, सीएमएचओ दुर्ग

रिपोर्ट मिलने पर कार्रवाई की जाएगी


-सबके कार्य की समीक्षा करा रहे हैं। रिपोर्ट आने पर जिस स्तर से भी लापरवाही मिलेगी उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। जन स्वस्थ के साथ खिलवाड़ को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


-टैबलेट मिलने के बाद भी सबने निक्षय पोर्टल पर एंट्री नहीं की, इसलिए सबका वेतन रोका गया है।


-तीनों पदों के लिए आवेदन मांगा गया था। किसी अड़चन के कारण अबतक नियुक्ति नहीं हो पाई है। मैं इसे दिखवाता हूं कि किस स्तर से नियुक्तियों में अवरोध है।

X
Bhilai News - chhattisgarh news the program which monitors the pmo does not feed its data
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना