आज पूरे विश्व में सबसे अधिक संपन्न यदि कोई भाषा है तो वह है हिंदुस्तान की हिंदी

Bhilai News - जब बात होती है विश्व में भाषाओं के आन-बान और शान की तब सबसे संपन्न नजर आती है हिंदी हिंदुस्तान की। हिंदी के लिए ये...

Sep 15, 2019, 06:46 AM IST
जब बात होती है विश्व में भाषाओं के आन-बान और शान की तब सबसे संपन्न नजर आती है हिंदी हिंदुस्तान की। हिंदी के लिए ये भाव नजर आए दैनिक भास्कर के कार्यक्रम शब्द भास्कर में। दैनिक भास्कर की ओर से आयोजित शब्द भास्कर खुला मंच में शहर के 23 नवोदित रचनाकारों ने अपनी रचनाओं को पढ़ा।

उन्होंने इस मंच पर कविताओं से अपने हुनर को साबित किया। वहीं पांच आमंत्रित कवियों ने भी मंच पर नवोदित रचनाकारों का मार्गदर्शन किया। जिसमें मनोज शुक्ला, मयंक शर्मा, हनी चौबे, अक्षरा, निलेश त्रिपाठी ने भी कविता का पाठ किया। यह कार्यक्रम श्रीशंकराचार्य टेक्निकल कैंपस जुनवानी में हुआ। जिसमें हिस्सा लेने के लिए इस कार्यक्रम में हमें 1000 से ज्यादा आवेदन आए थे। जिसमें 23 नवोदित रचनाओं को हमारे निर्णायक मंडल ने सिलेक्ट किया। इस कार्यक्रम में जिले के वरिष्ठ साहित्यकार, रचनाकार और कवि मौजूद हुए। जिनमें परदेशी राम वर्मा, आचार्य महेशचंद्र शर्मा, डीपी देशमुख, मुकेश चंद्राकर, राकेश मिश्रा, डॉ. श्रीकांत तिवारी आदि मौजूद रहे और इन्होंने नवोदित रचनाकारों का हौसला बढ़ाया।

शब्द भास्कर में चयनित प्रतिभागियों ने रचनाओं व कविता का पाठ किया, जिसमें सभी प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया और उनको शुभकामनाएं दी गई।

2021 में हिंदी उपयोग करने वाले बढ़ जाएंगे

हिंदी दिवस के मौके पर आमंत्रित कवियों ने बताया कि देश में शीर्ष 10 भाषाओं में से सिर्फ हिंदी बोलने वाले बढ़े हैं। इंटरनेट पर भी सबसे तेज 94% की गति से हिंदी बढ़ी है। साउथ में हिंदी बोलने वाले 22% बढ़े। 2021 में इंटरनेट पर हिंदी इस्तेमाल करने वाले अंग्रेजी से ज्यादा हो जाएंगे। 10 साल में 10 करोड़ हिंदी भाषी विश्व में बढ़े हैं यह बड़ी खुशखबरी है।

शब्द भास्कर कार्यक्रम में पहुंचे शहर के साहित्यकार, कविगण और वरिष्ठ नागरिक, सभी ने नवोदित रचनाकारों का उत्साह बढ़ाया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना