पाइप लाइन बिछाने देर रात तक चला काम पांच वार्डों के 7 हजार घरों में नहीं आया पानी

Bhilaidurg News - बघेरा सहित आसपास के अन्य 5 वार्डों के करीब 7 हजार घरों की पेयजल आपूर्ति गुरुवार को पूरे दिन प्रभावित रही। दावा किया...

Jan 24, 2020, 06:56 AM IST
Durg News - chhattisgarh news work on laying the pipeline lasted till late night 7 thousand houses in five wards did not get water
बघेरा सहित आसपास के अन्य 5 वार्डों के करीब 7 हजार घरों की पेयजल आपूर्ति गुरुवार को पूरे दिन प्रभावित रही। दावा किया गया है कि प्रभावित क्षेत्रों तक टैंकरों से आपूर्ति की गई, लेकिन यह नाकाफी साबित हुई। इन सबके बीच बघेरा पानी टंकी से पुलगांव स्थित गोकुल नगर ओवर हेड टैंक को जोड़ने के लिए मशक्कत की गई।

गोकुल नगर तक जहां अमृत मिशन योजना के तहत 300 एमएम डॉया की पाइप बिछाई गई। वहीं बघेरा से आने वाली लाईन 600 एमएम डॉया की रही। इसके अलावा जिस जगह पर ज्वाइंट किया जाना तय किया गया। वहां भिलाई-दुर्ग में पेयजल आपूर्ति के लिए बने इंटकवेल से आने वाले रॉ वॉटर की पाइप लाइन गुजर रही। इस वजह से खासी मशक्कत करनी पड़ी। देर रात तक ज्वाइंट का यह काम नहीं हो पाया। मुख्य रूप से दोनों पाइप को जोड़ने में परेशानी उठानी पड़ी। गुरुवार को लोगों को पानी नहीं होने के कारण काफी समस्या हुई।

मशक्कत
प्रयास रहा असफल: घरों में पूरे दिन नहीं आया नल, टैंकर भी नहीं भेज सके जिम्मेदार

कार्य जारी होने के बाद भी नहीं मिल सका लोगों को राहत।

निगम के क्षेत्र में अब तक नहीं पहुंचा पानी

निगम ने एक बार पुन: गोकुल नगर में डेयरी संचालित करने प्लानिंग की है। 160 डेयरियां संचालित करने की जगह यहां पर प्रस्तावित है। वर्तमान में इस जगह पर पेयजल के इंतजाम नहीं है। पुराना ओवर हेड टैंक जरूर बनाया गया है, लेकिन पानी अब तक नहीं पहुंच पाया है। इसे देखते हुए बघेरा पानी टंकी से गोकुल नगर तक पहुंचाए जाने की प्लानिंग की गई। नयापारा चौक पर बघेरा लाइन से गोकुल नगर तक बिछाई गई नई लाईन को जोड़ा जाना है। इस वजह से गुरुवार को शट डाउन लेकर कार्य किया गया।

इन पांच वार्डों के रहवासियों को हुई परेशानी

गुरुवार को 5 वार्डों के लिए पेयजल आपूर्ति ठप रही। बघेरा से सप्लाई वाले 5 वार्डों में नयापारा, राजीव नगर, मठपारा गया नगर और बघेरा शामिल हैं। इन क्षेत्रों में गुरुवार को नल नहीं खुले। वर्तमान में जारी कार्य के मुताबिक 24 जनवरी की सुबह भी नल खुलने की संभावना कम ही बताई जा रही। पूरे दिन पब्लिक पानी को लेकर परेशान रही। टैंकरों से आपूर्ति की बात कही गई, लेकिन आपूर्ति नाकाफी साबित हुई।

गड़बड़ी: 24 लाख खर्च कर पाइप बिछाई, अधूरा छोड़ा

गोकुल नगर में यह प्रयास पहला नहीं है। इससे पहले करीब 24 लाख रुपए इस पर खर्च किए गए। बाकायदा प्लानिंग की गई, प्रस्ताव बना, उसकी मंजूरी ली गई। टेंडर के जरिए कार्य भरत जैन नाम एजेंसी तय कर काम कराया गया। 2 मोटर पंप लगाए गए। 6 इंच की पाइप लाइन बिछाई गई। पंप हाउस बनाया गया, नदी में पाइप लाइन डालकर पानी खींचना सुनिश्चित किया गया। वर्ष 2013-14 में यह पूरी प्रक्रिया हुई। गुरुद्वारा के करीब से नदी तट से मिनी माता चौक तक पाइप लाइन बिछाई गई।

24 एमएलडी फिल्टर प्लांट का मेंटेनेंस शुरू

इधर 24 एमएलडी फिल्टर प्लांट का मेंटेनेंस शुरू कर दिया गया है। इसके फ्लॉक्यूलेटर ब्रिज का मेजरमेंट पिछले दिनों शट डाउन लेकर किया गया। साथ ही जमा शिल्ट को भी हटाया गया। अब फ्लॉक्यूलेटर ब्रिज के उपकरण करीब महीने भर के अंदर पहुंचेंगे। इसके बाद पुन: शट डाउन लेकर नए ब्रिज का काम किया जाएगा। ताकि पानी को शुद्ध करने में सहायता मिल सके। वर्तमान में एक ब्रिज के भरोसे ही पानी को शुद्ध किया जा रहा। गोकुल नगर में 27 से पेयजल की आपूर्ति शुरू होगी।

X
Durg News - chhattisgarh news work on laying the pipeline lasted till late night 7 thousand houses in five wards did not get water
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना