करंट से श्रमिक की मौत, बीएसपी अधिकारी व ठेकेदार पर जुर्म दर्ज

Bhilaidurg News - सालभर पहले बीएसपी की सीआईएसएफ रेल्वे गेट के पास बिजली मेंटेनेंस करते समय श्रमिक रामेश्वर ढीमर की सालभर पहले करंट...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 06:50 AM IST
Bhilai News - chhattisgarh news worker39s death bsp officer and contractor booked for dowry
सालभर पहले बीएसपी की सीआईएसएफ रेल्वे गेट के पास बिजली मेंटेनेंस करते समय श्रमिक रामेश्वर ढीमर की सालभर पहले करंट लगने से मौत हो गई। उसी प्रकरण में पुलिस ने जांच के बाद बिजली विभाग के इंचार्ज एस. श्रीनिवास राव और ठेकेदार शंकर दयाल सिंह के खिलाफ धारा 279, 304ए 12 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।

उस दौरान रामेश्वर संयंत्र के खुर्सीपार गेट के डिस्पोजल एरिया में प्रकाश व्यवस्था दुरुस्त करने चालू लाइन में काम कर रहा था। उसी दौरान कंरट लगने के बाद रामेश्वर को तत्काल जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय एवं अनुसंधान केंद्र सेक्टर-9 में भर्ती कराया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उस भट्टी पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू की दी। अब जांच में दोषी पाए जाने पर अधिकारी और ठेकेदार के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया है। बता दें कि इससे पहले भी बीएसपी में हुए हादसे के बाद अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुए हैं।

तस्वीर 2018 की है। यहीं पर करंट से रामेश्वर ढीमर की हुई थी मौत।

पहले भी हादसे के बाद अफसरों पर दर्ज हुए केस

बीएसपी की अनदेखी पर भी उठाए थे सवाल

घटना के बाद श्रमिक संगठनों ने भी बीएसपी प्रबंधन की इस नीति का जमकर विरोध किया था। उनका कहना था कि ठेकेदार पैसा बचाने के लिए बिना तकनीकी के जानकारों को भर्ती करके उसने तकनीकी का काम लेते हैं। जबकि बीएसपी अधिकारी हमेशा उसे नजर अंदाज करते रहते हैं। इसके चलते उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ता है। अब भी सेफ्टी इश्यूज को लेकर मुद्दा बना है।

तकनीकी जानकार नहीं था रामेश्वर ढीमर

जांच अधिकारियों ने बताया, कि प्लांट में ठेका मजदूरी करने वाले रामेश्वर कुमार ढीमर तकनीकी का जानकार नहीं था। इसके बावजूद मेसर्स एसडीएस कन्स्ट्रक्शन के शंकर दयाल सिंह उसे ऐसे काम पर लगा दिया, जिसका उसे अनुभव नहीं था। साथ ही बीएसपी में संबंधित बिजली विभाग के इंचार्ज ने भी ध्यान नहीं दिया। इसके श्रमिक हादसे का शिकार हो गया।

घटना के वक्त हुई थी ये बड़ी चूक, जानिए

पिछले साल 28 मई की सुबह करीब 11.45 बजे रामेश्वर लाइन में कर रहा था। उस दौरान तार ठीक करने सीढ़ी की बजाए लोहे के गेट पर चढ़ गया। इसके अलावा लाइन ठीक करने से पहले शटडाउन या लोकल स्विच के माध्यम से बिजली आपूर्ति को बंद नहीं किया गया। इसके चलते रामेश्वर हादसे का शिकार हो गया। रामेश्वर की मौत के बाद यूनियनों ने प्रबंधन पर सवाल उठाए थे।

Bhilai News - chhattisgarh news worker39s death bsp officer and contractor booked for dowry
X
Bhilai News - chhattisgarh news worker39s death bsp officer and contractor booked for dowry
Bhilai News - chhattisgarh news worker39s death bsp officer and contractor booked for dowry
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना