--Advertisement--

लूटे गए मोबाइल को भी सिटीजन कॉप ने तीन माह में खोज निकाला

Durg Bhilai News - सिटीजन कॉप एप के प्रति लोगों का विश्वास इतना बढ़ चुका है कि लूट और स्नैचिंग की घटना में गवाएं मोबाइल को पाने के लिए...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:11 AM IST
Bhilai News - citizen coop searches for three months in looted mobile
सिटीजन कॉप एप के प्रति लोगों का विश्वास इतना बढ़ चुका है कि लूट और स्नैचिंग की घटना में गवाएं मोबाइल को पाने के लिए उन्होंने एप का सहारा लिया। करीब तीन महीने के इंतजार के बाद टीम ने उनके भी मोबाइल खोजकर उपलब्ध करा दिए। शनिवार आईजी दफ्तर में मोबाइल वितरण कार्यक्रम 25 लोगों को उनके मोबाइल सौंपे गए। उनमें से वर्षा वर्मा के साथ इसी तरह की घटना हुई, जिसमें उनका मोबाइल बाइक पर बैठकर जाते समय एक स्नैचर हाथ से छीनकर ले गया था। बता दें कि, रायपुर के बाद दुर्ग जिले में सिटीजन कॉप एप लांच हुआ। यहां एप को जबरदस्त रिस्पांस मिला। देश में लागू होने जा रहा है।

मोबाइल के लिए गोंदिया व शहडोल पहुंची टीम

एप्लीकेशन पर दर्ज मोबाइल फोन के गुम होने की शिकायतों पर कार्रवाई करते हुए 25 नग मोबाइल फोन रिकवर किया। उनमें से कुछ मध्यप्रदेश के शहडोल, बालाघाट एवं महाराष्ट्र के गोंदिया जाकर खोजे गए और कुछ को प्रदेश के रायपुर, बिलासपुर, मुंगेली, धमतरी, महासमुंद, पाटन, बेमेतरा, बालोद व नांदगांव से भी रिकवर किया।

पहली सैलरी से खरीदा था मोबाइल

स्मृति नगर की वर्षा वर्मा शंकरा हॉस्पिटल में करीब चार महीने पहले ही फार्मासिस्ट की नौकरी लगी थी। पहली सैलरी मिलने पर उसने अपने एक स्मार्ट फोन खरीदा ही था। 1 अक्टूबर को पीछे से आए बाइक सवार उनका मोबाइल छीनकर भाग गया था।

आईजी बोले- यह एप तो डिजिटल थाना है

मोबाइल वितरण कार्यक्रम के दौरान आईजी जीपी सिंह ने कहा कि सिटीजन काॅप मोबाइल एप पुलिस थाना का एक डिजिटल स्वरूप है, जिसका उपयोग करके आम नागरिक अपनी समस्याएं व सूचनाएं पुलिस से साझा कर सकते हैं। यूजर्स की पहचान गोपनीय रहती है। यह एप लोगों की बेहतर यूटीलिटी एप साबित हो रही है।

X
Bhilai News - citizen coop searches for three months in looted mobile
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..