फैसला / मासूम से दुष्कर्म करने वाले अधेड़ को उम्रकैद, किशोरी के दुष्कर्मी को 10 साल की सजा

durg news Middle aged rapist gets life imprisonment, Teenager' rapist gets 10year sentence
X
durg news Middle aged rapist gets life imprisonment, Teenager' rapist gets 10year sentence

  • अगस्त 2018 में धमधा क्षेत्र में स्कूल जाते समय बच्ची का मुंहबोला बड़ा पिता उसे ले गया था अपने साथ 
  • वहीं खुर्सीपारा में किशोरी से दुष्कर्म, फिर गर्भवती होने पर छोड़ने वाले युवक को 10 साल की सजा

दैनिक भास्कर

Aug 02, 2019, 11:36 AM IST

दुर्ग. किशोरियों के साथ विश्वासघात के दो अलग-अलग मामले सामने आए हैं। धमधा क्षेत्र में 9 साल की बच्ची को मीठे पकवान खिलाने के बहाने मुंह बोला बड़े पापा ने उससे दुष्कर्म किया और फिर अप्राकृतिक कृत्य भी अंजाम दिया। जिला कोर्ट ने अधेड़ को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। वहीं खुर्सीपारा क्षेत्र में पैरामेडिकल की पढ़ाई के दौरान साढ़े 17 वर्ष की किशोरी को शादी का झांसा देकर क्लासमेट ने दुष्कर्म किया और गर्भवती होने पर किनारा करने वाले युवक को 10 साल कैद की सजा सुनाई है। 

स्कूल जाने निकली मासूम को रास्ते ले गया अपने घर 

अतिरिक्त लोक अभियोजक कमल किशोर वर्मा ने बताया, 50 वर्षीय आरोपी संतोष साहू कक्षा 3 में पढ़ने वाली मासूम का मुंह बोला बड़ा पापा लगता है। पिछले साल 31 अगस्त की दोपहर करीब 1.30 बजे घर से पीड़िता स्कूल जाने के निकली। आरोपी ने रास्ते में रोका। उसे शीशी पउवा, खउवा खाने को देने का झांसा देकर घर ले गया, वहां संतोष ने अपनी उम्र का लिहाज नहीं करते हुए। पीड़िता के साथ अनाचार किया। उसके बाद आरोपी ने अप्राकृतिक कृत्य भी किया। 

पुलिस ने बताया कि खुर्सीपार निवासी साढ़े 17 साल की किशोरी का साथ पढ़ने वाले किशोर के साथ मेलजोल बढ़ गया। नजदीकियां ज्यादा बढ़ी तो उसे शादी का प्रलोभन देकर विश्वास हासिल कर लिया। इसके बाद किसी न किसी बहाने किशोरी को मिलने बुलाने लगा। उस किशोरी के साथ कई दफा संबंध भी बनाए। इसी बीच उसके गर्भ ठहर गया। जानकारी होने पर आरोपी उससे कटने लगा। इसी तरह दो महीने गुजरने के बाद आरोपी ने मिलने भी छोड़ दिया। 

इसके बाद मासूम बिना स्कूल जाए अपने घर रोती-बिलखती लौट गई। हालांकि उस दौरान परिजन उसके रोने की वजह समझ नहीं सके। जब भी मासूम बाथरुम जाती दर्द की वजह हमेशा रोने लगती। चार दिनों तक परिवार का कोई सदस्य मासूम की बात समझ नहीं सका। उसे पेट दर्द की शिकायत करने लगी तो अनहोनी की आशंका के चलते उसके चाचा-चाची ने पूछताछ की। तब खुलासा हुआ। 

इधर, गर्भ ठहरने की जानकारी मिलने पर छोड़ा 

इस पर अगले ही दिन 5 सिंतबर को पीड़िता की मां ने आरोपी के खिलाफ धमधा थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस ने तुरंत गिरफ्तार कर लिया। दो महीने के अंदर पूरे प्रकरण की विवेचना पूरी करके चालान अदालत में पेश कर दिया। कोर्ट ने आरोपी को धारा 376 में आजीवन कारावास और 5 हजार रुपए जुर्माना, धारा 377 व 10-10 साल सश्रम कारावास और 5-5 सौ रुपए अर्थदंड दिया है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना