विज्ञापन

दुर्ग विश्वविद्यालय / वेबसाइट में सुबह पास दिखाया फिर शाम को बता दिया फेल, छात्रों का हंगामा

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 11:18 AM IST


दुर्ग विवि में मंगलवार को फिर से छात्रों ने प्रदर्शन किया।  दुर्ग विवि में मंगलवार को फिर से छात्रों ने प्रदर्शन किया। 
X
दुर्ग विवि में मंगलवार को फिर से छात्रों ने प्रदर्शन किया। दुर्ग विवि में मंगलवार को फिर से छात्रों ने प्रदर्शन किया। 
  • comment

  • बीसीए के छात्रों को समान अंक, 15 दिन से विवि में रिजल्ट के लिए रोज बवाल
  • 1.34 लाख छात्रों ने दी परीक्षा,  इसमें अनुत्तीर्ण हुए सिर्फ 5300 छात्र

भिलाई. हेमचंद यादव विश्वविद्यालय दुर्ग के पूरक के नतीजों में भारी गड़बड़ी हुई है। वेबसाइट में कुछ छात्रों को सुबह पास दिखाया गया, उन्हें शाम को अनुत्तीर्ण बताकर सुपर सप्लीमेंट्री की पात्रता दे दी। इससे आक्रोशित छात्रों ने विवि के प्रशासनिक भवन के सामने जमकर हंगामा किया। करीब ढाई घंटे तक कुलसचिव का घेराव किया।

नुकसान सिर्फ छात्रों का: एकेडमिक कैलेंडर से पहले ही पिछड़ गया है विवि 

  1. बीती रात को भी छात्रों ने करीब नौ घंटे तक कुलसचिव डॉ. राजेश पांडेय को उनके कक्ष में घेरे रखा था। कुछ दिन पहले पूरक के नतीजे वेबसाइट पर जारी किए गए। छात्रों वेबसाइट से नतीजे देखे। कुछ ही घंटे में परिणाम में अंतर आने को देखते हुए जमकर हंगामा किया। मौके पर पुलिस भी पहुंच गई। 

  2. दुर्ग विवि में ही इसलिए बन रहे ये हालात

    • दुर्ग विवि में परीक्षा संबंधि काम निजी एजेंसी करती है। हाल ही में पुरानी एजेंसी के कार्यों में गड़बड़ी मिलने की वजह से हटाया गया।
    • नई एजेंसी ने काम संभाला, लेकिन सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं। रिजल्ट में भारी अंतर दिखा रहा है।
    • छात्रों को कॉलेज में समाधान नहीं मिल रहा है।
    • कॉलेजों से छात्रों को यूनिवर्सिटी भेजा जा रहा है, जहां उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया जा रहा है। 

  3. इधर, ढाई घंटे चली बैठक पर नहीं निकाला नतीजा 

    पूरक परीक्षा के नतीजे में जिन छात्रों को सुपर सप्लीमेंट्री की पात्रता दी गई है। उन्हें देखते ही विवि के आला अधिकारियों ने खुद को अपने-अपने कक्षों में बंद कर लिया और दरवाजे बंद करवा दिए गए। फिर माहौल गरमाया। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। 

  4. गलती को सुधार लिया है

    बीसीए के छात्र थे। उन्हें शून्य अंक मिला है। कॉपी दिखाने की मांग कर रहे थे। नियमानुसार उन्हें कॉपी नहीं दिखाई जा सकती। उन्हें सुपर सप्लीमेंट्री दिया है। लगभग 1.34 लाख परीक्षार्थी दिए, इसमें 5300 छात्र अनुत्तीर्ण हुए हैं। वेबसाइट की गलती को सुधार लिया गया है।

    डॉ. राजेश पांडेय, कुलसचिव, डीयू 

     

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें