पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सूर्य की रोशनी, हवा और समुद्र की लहरों से निकली ऊर्जा से बनाया कार्बन फ्री आईलैंड, राष्ट्रपति पुतिन ने की तारीफ

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रोजेक्ट के प्रदर्शन के दौरान रूसी राष्ट्रपति ब्लादमिर पुतिन के साथ भिलाई की छात्रा खुशी गुप्ता और उसके अन्य साथी।
  • भिलाई के डीपीएस की छात्रा खुशी ने रशिया के सोची शहर में साथियों के साथ प्रदर्शन, काेई बाई प्रोडक्ट नहीं सिर्फ बिजली ही बनती है
  • परंपरागत ऊर्जा के स्थान पर बिजली उत्पादन का नया विकल्प बनाया, 5 भारतीय व 5 रूसी साथियों के साथ किया सफल प्रयोग

संजय पाठक। भिलाई. छत्तीसगढ़ के भिलाई की बेटी खुशी गुप्ता ने परंपरागत ऊर्जा के स्थान पर बिजली उत्पादन का एक नया विकल्प बनाया। इसकी सबसे बड़ी विशेषता है कि इससे कोई बाई प्रोडक्ट नहीं निकलता। सिर्फ बिजली ही मिलती है। यह प्रयोग उन्होंने रशिया के सोची शहर में अपने 5 भारतीय और 5 रूसी साथियों के सहयोग से रशियन गाइड के मार्गदर्शन में बनाया। इसमें उन्होंने सोलर एनर्जी, वातावरण में बहती हुई हवा और समुद्र में आने वाले ज्वारभाटा से निकलने वाली एनर्जी का सही दिशा में उपयोग करने की जानकारी दी। इसके उपयोग से उन्होंने वहां कार्बन फ्री ग्रीन आईलैंड बनाया। 

1) कार्यक्रम के आखिरी दिन रूसी राष्ट्रपति पुतिन भी पहुंचे 

खुशी और टीम के कार्यों की रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने सराहना की। उन्हें स्प्रिकंलर से निकलने वाली काइनेटिक एनर्जी को बिजली में बदलने वाली अपनी खोज (इलेक्ट्रो स्प्रिंकलर) के बारे में बताया। एक शार्ट लिस्ट बुकलेट भी उन्हें दी। इसे देखने के बाद ग्लोबल वार्मिंग व कार्बन उत्सर्जन की रोकथाम की दिशा में बेहतर काम करने प्रेरित किया। 

25 सदस्यों की टीम भारत से गई थी। रूस में 25 और साथी मिले। प्रत्येक में एक रूसी शिक्षक को मेंटर बनाया गया। उसके बाद प्रत्येक टीम को अलग-अलग सब्जेक्ट दिए गए। इसमें खुशी को क्लीन एंड बैलेंस्ड कार्बन फ्री एनर्जेटिक सिस्टम मिला। 

सिंटरिंग प्लांट-3 के इलेक्ट्रिकल इंजीनियर देवेंद्र गुप्ता और मनीषा गुप्ता की बेटी खुशी डीपीएस भिलाई में कक्षा में 11वीं में पढ़ती है। उन्होंने खेतों की सिंचाई के दौरान उपयोग किए जाने वाले स्प्रिंकलर को देखा। उसके घूमने से निकलने वाली ऊर्जा को बिजली में बदलने की कल्पना की।

खुशी ने बताया कि जब वह 10वीं कक्षा में थी पढ़ा था कि ऊर्जा कभी नष्ट नहीं होती, उसका स्वरूप बदलता है। इसी सिद्धांत का पालन किया। इसके लिए इलेक्ट्रिकल इंजीनियर पिता से चर्चा की। फिर दोनों ने मिलकर स्प्रिंकलर के घूमने से निकलने वाली काइनेटिक एनर्जी को रोशनी में बदला। 

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें