--Advertisement--

सफलता के लिए गुरु की सेवा और सिद्धांतों का पालन जरूरी

Durg Bhilai News - कम्युनिटी रिपोर्टर | भिलाई /उतई जगदगुरु कृपालु महाराज की शिष्या गोपिकेश्वरी देवी ने कहा कि मोक्ष चाहिए या भगवान...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 02:11 AM IST
Bhilai News - to succeed follow the service and principles of the guru
कम्युनिटी रिपोर्टर | भिलाई /उतई

जगदगुरु कृपालु महाराज की शिष्या गोपिकेश्वरी देवी ने कहा कि मोक्ष चाहिए या भगवान को प्राप्त करने की इच्छा है तो गुरु की सेवा बहुत जरूरी है। उनकी कृपा और बताए मार्ग पर चलने से भगवत कृपा मिलती है, मोक्ष के द्वार खुलते हैं।

उतई के दशहरा मैदान में चल रही 15 दिनी प्रवचन शृंखला के आठवें दिन उन्होंने गुरुतत्व की विवेचना करते हुए गुरु की महिमा बताई। कहा कि संसार में संत कई काम करते दिखते हैं। उनमें काम, क्रोध, लोभ, मोह आदि के भी व्यवहार होते हैं। इतिहास में भगवान राम, कृष्ण, पार्वती, दुर्वासा, भरत, अर्जुन आदि ने माया के कार्य किए। आखिर वह इसे करते कैसे हैं? उनके पास योगमाया की शक्ति है, जो भगवत्प्राप्ति के समय भगवान से मिलती है। योगमाया का अर्थ है, मन का भगवान में निरंतर योग और शरीर से माया के काम करना। इसी से वह भीतर से तो भगवान के प्रेम और आनंद में मग्न रहते हैं।

गुरु की महिमा : जीव को संरक्षण देकर बढ़ाता है आगे

उतई के दशहरा मैदान में चल रही है प्रवचन शृंखला।

सारी समस्याओं का समाधान करते हैं गुरु

गुरु भीतर या प्रत्यक्ष मार्ग में आने वाली समस्याओं का समाधान करते हैं। प्रत्येक क्षण शरणागत के साथ रहते हैं। संरक्षण प्रदान करता है। जीव के अंतःकरण को धोता है। भगवत्प्राप्ति के बाद जीव को भगवान के धाम में सेवा प्राप्त होती है। गुरु जीव के साथ रहता है।

आज सुबह हरिनाम नगर संकीर्तन यात्रा

गोपिकेश्वरी देवी के सान्निध्य में रविवार को नगर में हरिनाम संकीर्तन होगा। सुबह 6.30 बजे नगरवासी दशहरा मैदान में एकत्रित होंगे। इसके बाद कीर्तन यात्रा निकलेगी। शाम 4.30 बजे प्रवचन होगा। इसमें संतों की पहचान के बारे में बताया जाएगा।

जानिए... भगवान और गुरु संबंधी तीन बातें




X
Bhilai News - to succeed follow the service and principles of the guru
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..