रिकॉर्ड / छत्तीसगढ़ में जन्मा सबसे वजनी बच्चा, सामान्य प्रसव से हुई 5.3 किलो के नवजात की डिलीवरी

Dainik Bhaskar

Jan 05, 2019, 06:36 PM IST


नवजात। नवजात।
X
नवजात।नवजात।

  • भारत में वजनी बच्चे के मामले में ये चौथे नंबर पर, पहला कर्नाटक में 
  • प्रसूता की चार बेटियां हैं, यह पांचवी संतान है
  • डॉक्टर्स ने कहा- मां और बच्चा दोनों स्वस्थ्य

चंद्रकुमार दुबे, बिलासपुर. छत्तीसगढ़ में पहला सबसे वजनी बच्चे का जन्म सामान्य प्रसव के जरिए बिलासपुर के एक अस्पताल में शुक्रवार को हुआ है। बच्चे का वजन 5 किलो 300 ग्राम है। डिलीवरी के बाद मां और बच्चा दोनों स्वस्थ्य हैं। प्रसूता की ये पांचवी संतान है। उसकी चार बेटियां पहले से ही हैं। बिलासपुर जिले के मल्हार क्षेत्र के ग्राम चकरबेड़ा निवासी हेमलता बंजारे (32) पत्नी नरेंद्र बंजारे का शुक्रवार को डॉक्टरों की टीम ने सामान्य प्रसव कराया। प्रसूता और नवजात दोनों को वाॅर्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

सामान्य तौर पर नवजात का वजन 2.5 से 3.5 किग्रा तक होता

  1. प्रसव कराने वाली डॉ. निलेश ठाकुर ने बताया कि सामान्य रूप से बच्चे का वजन 2.5 से 3.5 किलोग्राम का होता है, लेकिन इस बच्चे का वजन 5.300 किलोग्राम है। महिला की सास ने बताया कि पूरे नौ महीने तक उन्होंने बहू के खान-पान का ख्याल रखा और समय-समय पर डॉक्टर से चेकअप भी कराया।

  2. पति करता है मजदूरी

    नवजात

    हेमलता का पति नरेंद्र बंजारे रोजी मजदूरी करता है। इतना वजनी बच्चा होने से दोनों चकित होने के साथ ही खुश भी हैं। इस मामले में चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर सुशील कुमार ने बताया कि प्रसूता का वजन ज्यादा होने से बच्चा वजनदार पैदा हो जाता है। ऐसे बच्चों की उनके परिजनों को केयर ज्यादा करनी चाहिए। मां को बार-बार दूध पिलाना चाहिए।

  3. शुगर की परेशानी के चलते भी होता है ऐसा

    आमतौर पर मां को शुगर संबंधित परेशानी होने के कारण शिशुओं का वजन ज्यादा होने की आशंका होती है। लगभग तीन से चार महीने के शिशु का वजन 5.30 किलो के आसपास होता है। इसी तरह लारेंसमोलबेटल सिंड्रोम नामक बीमारी में भी बच्चे का वजन अधिक होता है।

  4. कर्नाटक में पैदा हुआ था देश का सबसे वजनी बच्चा

    चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉक्टर सुशील कुमार ने बताया कि कर्नाटक के हासन में महिला नंदिनी ने हासन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेस में 23 मई 2016 को सिजेरियन माध्यम से 6.8 किलो के एक बच्चे को जन्म दिया था, वह भारत की सबसे वजनी बच्ची है। उत्तरप्रदेश के इटावा में वर्ष 2015 में एक महिला ने 6 किलो वजनी बच्चे को जन्म दिया था। जन्म के कुछ ही दिन बाद उसकी मौत हो गई थी। 12 अगस्त 2017 को राजस्थान चुरू के डीबी अस्पताल में एक महिला ने 5.97 किलो के बच्चे को जन्म दिया। महिला की सिजेरियन ऑपरेशन के बाद डिलिवरी हो पाई। 

  5. दुनिया के सबसे वजनी बच्चे का रिकाॅर्ड कनाडा के नाम

    दुनिया में सबसे अधिक वजनी बच्चे का रिकाॅर्ड कनाडा में 1897 में जन्मे 10.4 किग्रा के बच्चे के नाम है। हालांकि वह 11 घंटे ही जीवित रह सका था। इससे पहले 1955 में इटली में 10 किलोग्राम के बच्चे का जन्म हुआ था।

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543