हादसा / जानवरों के शिकार के लिए बिछाए गए थे करंट वाले तार, इनमें फंसकर एक ग्रामीण की मौत

सिम्बॉलिक फोटो सिम्बॉलिक फोटो
X
सिम्बॉलिक फोटोसिम्बॉलिक फोटो

  • बलरामपुर जिले के छतवा गांव के जंगलों में हुई घटना 
  • इससे पहले भी कुछ ग्रामीणों और हाथियों की हो चुकी है इसी तरह मौत 

दैनिक भास्कर

Dec 22, 2019, 01:39 PM IST

बलरामपुर. छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के एक गांव में ग्रामीण की मौत करंट लगने से हो गई। यह घटना विजयनगर पुलिस चौकी के छतवा गांव के जंगल में हुई। असल में यहां जानवरों के शिकार करने के लिए करंत वाले तार बिछाए गए थे। मृतक इन्हीं की चपेट में आ गया। अब पुलिस इस मामले की जांच कर उन लोगों की जानकारी जुटा रही है, जिन्होंने तार बिछाए थे। 
 
पिछले दिनों वाड्रफनगर इलाके में इसी तरह बिछाए गए तार की चपेट में आने से हाथी की मौत हो गई थी। करीब एक माह पहले बसंतपुर थाना इलाके में हुई अलग-अलग घटनाओं में अन्य दो लोगों की मौत हुई थी। पुलिस के मुताबिक छतवा जंगल में नीलकंठपुर निवासी शिवकुमार कोडाकू का शव तारों में चिपका हुआ मिला। इसके बाद गांव के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी और मौके पर पुलिस ने पहुंचकर पंचनामा लिया। बलरामपुर जिले में हर साल इस तरह की घटनाएं होती हैं, यहां ग्रामीणों के द्वारा हिरण, खरगोश और जंगली सूअर का शिकार करने के लिए जंगल से होकर गुजरने वाले हाईटेंशन तारों से अवैध हुकिंग कर जीआई तार से करंट प्रवाहित किया जाता है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना