घटना / नीट की तैयारी के लिए बेटे को हाॅस्टल भेजा, 2 दिन बाद संदिग्ध हालत में मौत



ambikapur news Student preparing for Neet dies in suspicious condition
X
ambikapur news Student preparing for Neet dies in suspicious condition

  • गोधनपुर इलाके में हाॅस्टल के सामने घायल अवस्था में मिला था डॉक्टर का बेटा
  • मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों ने देखा तो पहुंचाया अस्पताल, पिता ने हत्या की आशंका जताई 

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 11:33 AM IST

अंबिकापुर. सूरजपुर जिले के प्रतापपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ एक डाॅक्टर के बेटे की अंबिकापुर में बुधवार को संदिग्ध हालत में मौत हो गई। उनका बेटा नीट की तैयारी के लिए दो दिन पहले ही अंबिकापुर आया था। यहां हॉस्टल के बाहर ही वो सुबह घायल हालत में पड़ा हुआ मिला। मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों ने देखा तो उसे अस्पातल पहुंचाया, जहां उसकी मौत हो गई। डॉक्टर पिता ने बेटे की हत्या होने की आशंका जताई है। 

सिर और शरीर के अन्य हिस्सों पर मिले चोट के निशान, छत पर मिला सामान

  1. प्रतापपुर में पदस्थ डाॅ. एके विश्वकर्मा ने सोमवार को ही अपने 18 वर्षीय पुत्र अनुपम कुमार विश्वकर्मा को नीट की तैयारी के लिए अंबिकापुर के गोधनपुर इलाके में स्थित एक हाॅस्टल में शिफ्ट किया था। अनुपम बुधवार को भोर में हाॅस्टल के बाहर सड़क किनारे कंक्रीट के फर्श पर बेहोशी की हालत में घायल मिला। घटना के बारे में सुबह उस समय पता चला जब भोर में टहलने के लिए आस-पास के लोग निकले। सूचना पर पुलिस ने उसे मेडिकल काॅलेज अस्पताल में भर्ती कराया जहां कुछ समय बाद उसकी मौत हो गई। 

  2. उसके सिर व शरीर के अन्य हिस्से में चोट के निशान मिले हैं। इससे पिता हत्या की आशंका जता रहे हैं। अनुपम हाॅस्टल में मंगलवार रात अकेले था। हाॅस्टल की छत पर उसका मोबाइल, पर्स व नशे का सामान (गांजा) मिला है। कमरे से एक काॅपी मिली है जिसमें मौत के संबंध में दो लाइनें लिखी गई हैं। इससे छत से कूदकर आत्महत्या की भी आशंका जताई रही है, लेकिन चोट के निशान से हत्या के भी संकेत मिल रहे हैं। पुलिस हत्या व आत्महत्या दोनों पहलुओं पर जांच कर रही है। पुलिस ने छात्र का मोबाइल, कॉपी सहित अन्य सामान जब्त कर लिया है।

  3. दो साल कोटा में रहकर नीट की थी तैयारी लेकिन सफलता नहीं मिली

    अनुपम मेडिकल काॅलेज में प्रवेश के लिए नीट की तैयारी कर रहा था। उसका परिवार मूलत: उत्तरप्रदेश का रहने वाला है। दो साल उसने कोटा में रहकर नीट की तैयारी की थी, लेकिन सफलता नहीं मिली थी। पिछले साल ही उसने 12वीं पास किया था। नीट में सफलता नहीं मिलने के बाद वह अपने पिता के यहां प्रतापपुर आ गया था। नीट की उसकी तैयारी चल रही थी। अंबिकापुर में कोचिंग के लिए उसने कुछ दिन पहले बात की थी और रहने के लिए गोधनपुर में हाॅस्टल खुद ही तलाश किया था। छुट्‌टी के बाद भी उसके कहने पर पिता उसे सोमवार को हाॅस्टल में शिफ्ट कर वापस प्रतापपुर लौट गए थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना