धान खरीदी / अव्यवस्था पर नाराज मुख्य सचिव ने कहा- सुधार करें, एक ही बार बोलूंगा दोबारा नहीं

कोटा के धान खरीदी केंद्र में मुख्य सचिव आरपी मंडल कोटा के धान खरीदी केंद्र में मुख्य सचिव आरपी मंडल
X
कोटा के धान खरीदी केंद्र में मुख्य सचिव आरपी मंडलकोटा के धान खरीदी केंद्र में मुख्य सचिव आरपी मंडल

  • बिलासपुर के कोटा स्थित धान खरीदी केंद्र गए मुख्य सचिव आरपी मंडल 
  • शिक्षा विभाग के अधिकारी को नोडल बनाए जाने पर जताई नाराजगी 

दैनिक भास्कर

Dec 09, 2019, 03:00 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ में सोमवार का दिन धान खरीदी केंद्रों में हंगामेदार तरीके से बीता। बिलासपुर जिले के कोटा में खुद मुख्य सचिव आरपी मंडल ही अचानक पहुंच गए। यहां किसानों से बात की, व्यवस्था का जायजा लिया। कमियों पर बेहद नाराज हुए। सख्य अंदाज में अधिकारी और कर्मचारियों ने कहा कि सुधार करें, मैं एक ही बार बोलूंगा दोबारा नहीं, इसके बाद कार्रवाई होगी। इस खरीदी केंद्र में उन्होंने शिक्षा विभाग के एबीओ को नोडल अधिकारी बनाए जाने पर भी नाराजगी जताई ।


मुख्य सचिव के कोटा पहुंचने पर उनके साथ बिलासपुर कलेक्टर ,संजय अलंग एस पी प्रशांत अग्रवाल और जिले के आला अधिकारी मौजूद थे । कोटा धान मंडी के बाद वे पीपरतराई धान मंडी निरिक्षण करने के लिए निकल गए । खाद्य सचिव डा कमलप्रित सिंह ने कहा कि  पंद्रह फरवरी तक धान खरीदी की प्रक्रिया चलेगी । यदि किसानों को अपना धान बेचना है तो वे मंडी अधिकारी से भाव पत्र लेकर मिलर्स को बेच सकते है । हमारी कोशिश होगी कि किसी प्रकार की अव्यवस्था ना हो और किसानों को दिक्कत ना हो ।
 

लोरमी इलाके से किसानों के जबरदस्त हंगामे की खबर आई। यहां धान खरीदी न होने से गुस्साए किसानों ने धान खरीदी केंद्र के सामने हाइवे पर चक्काजाम किया। धान खरीदी की मात्रा कम किए जाने से किसान नाराज हो उठे। हंगामे की जानकारी के बाद एसडीएम और पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे। सभी ने किसानों को कार्रवाई और सुधार के लिए आश्वस्त किया तब जाकर किसान माने और हाइवे से हटे। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना