बिलासपुर  / 9 दिन बाद मुख्य परीक्षा, उत्तर पुस्तिका और प्रश्न पत्र नहीं छपे, जबकि एक माह पहले आ जाने थे

अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी) अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी)
X
अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी)अटल बिहारी वाजपेयी यूनिवर्सिटी (बिलासपुर यूनिवर्सिटी)

  • एयू की परीक्षा पर संकट : 2 दिनों में सामग्री आ भी गई तो 103 केंद्रों में पहुंचाना मुश्किल
  • इस बार 4 मार्च से शुरू हो रही हैं मुख्य परीक्षाएं, 1.76 लाख से अधिक छात्र बैठेंगे परीक्षा में 

दैनिक भास्कर

Feb 24, 2020, 01:47 PM IST

बिलासपुर. अटल यूनिवर्सिटी (एयू) को 4 मार्च से 1.76 लाख से अधिक छात्रों की मुख्य परीक्षाएं लेना है, लेकिन अब तक उत्तर पुस्तिकाएं ही छप कर नहीं आई हैं। जबकि उन्हें एक माह पहले ही आ जाना चाहिए था। हर बार यूनिवर्सिटी उत्तर पुस्तिका को 5 जिले के 95 केंद्रों में एक महीने पहले भेजना शुरू कर देती थी। इसके लिए 5 गाड़ियां लगाई जाती, लेकिन इस पर इस बार जहां परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़कर 103 हो चुकी है, वहीं अभी तक कोई व्यवस्था नहीं हुई है। ऐसे में यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं पर संकट दिखने लगा है। 

जानकारों के मुताबिक, अगर दो दिनों में उत्तर पुस्तिकाएं छपकर आ भी जाती है तो उन्हें केंद्रों तक पहुंचाने में दिक्कत होगी। क्योंकि एक जिले में कम से कम 15 से 20 परीक्षा केंद्र हैं। सभी केंद्रों के बीच 20 किमी से अधिक का फासला है। यूनिवर्सिटी के पास 5 गाड़ियां हैं। जिसमें से एक खराब है। एक गाड़ी में अधिकतम 50 हजार उत्तर पुस्तिकाएं आती हैं। बीते वर्ष का अनुभव है कि यूनिवर्सिटी से सुबह 6 बजे भेजी जाने वाली गाड़ी देर रात तक 3 से 4 केंद्रों में ही परीक्षा सामग्री बांट पाती थी। 


स्कूल भवन में चल रहे काॅलेज को परीक्षा केंद्र बनाया
शांति निकेतन कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाया गया है, यहां केवल दो शिक्षक हैं। इसके अलावा उकिया देवी काॅलेज, आईपीएस गुरुकुल, रायगढ़ कॉलेज ऑफ एजुकेशन, चौकसे कॉलेज, बिर्रा कॉलेज, नगरदा कॉलेज, ऑर्ट एंड साइंस कॉलेज बालोदा, डॉ. बीएसपी आदिवासी कॉलेज को नया परीक्षा केंद्र बनाया गया है। ये ऐसे केंद्र हैं, जहां व्यवस्थाएं नहीं होने के कारण यूनिवर्सिटी ने शपथ पत्र लिया था। बिर्रा व नगरदा कॉलेज स्कूल भवन में चल रहे हैं। श्री महंत लाल दास कॉलेज शिवरीनारायण, में 7 बंडल पेपर पहले खुलना पाया था, उसे फिर केंद्र बनाया गया है। 


ये करना था पर किया नहीं

  • परीक्षा केंद्रों को एयू ने नहीं दिया एडवांस, टेबल-कुर्सी तक दुरुस्त नहीं
  • अधिकांश केंद्र में सीसीटीवी, जैमर नहीं लगा, जिनमें लगा, वे यूनिवर्सिटी को आईपी एड्रेस नहीं दिए हैं
  • केंद्राध्यक्ष, उपकेंद्राध्यक्ष, पर्यवेक्षक तक नियुक्त नहीं
  • प्रश्नपत्र की सुरक्षा के लिए पुलिस अधिक्षक, थानों को सूचना नहीं दी गई
  • उड़नदस्ता टीम नहीं बनी है, यूनिवर्सिटी में कंट्रोल रूम भी नहीं बना है
  • हेल्पलाइन नंबर भी जारी नहीं हुए।
सवाल डॉ. सुधीर शर्मा, कुलसचिव अटल यूनिवर्सिटी
परीक्षा में 9 दिन बाकी हैं, पर अब तक उत्तर पुस्तिकाएं नहीं पहुंची? जल्द ही यूनिवर्सिटी ही पहुंच जाएगी। 40 केंद्रों में कुछ उत्तर पुस्तिकाएं हैं। 28 फरवरी तक केंद्रों में प्रश्न पत्र, उत्तर पुस्तिकाएं पहुंच जाएंगी।
जिन कॉलेजों से शपथ पत्र लिए थे, जिनमें व्यवस्था नहीं उन्हें ही केंद्र बना दिया गया? छात्रों का भविष्य जुड़ा है इसलिए अब परीक्षाएं नहीं रोकी जा सकती, पर सभी को नोटिस दी गई है। अगले सत्र में इन पर बड़ी कार्रवाई होगी।
परीक्षाएं तय होने के बाद भी इतनी लापरवाही क्यों? कोई लापरवाही नहीं की जा रही है। नियम के अनुसार प्रक्रियाएं चल रही हैं। अगले सत्र से सब सही होगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना