बैंक अफसरों को एटीएम में चोरी का डर, इसलिए रात 10 बजे एटीएम के करा देते हैं शटर डाउन

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • उपभोक्ताओं से हर साल वसूलते हैं फीस, एटीएम पर गार्ड रखने की जिम्मेदारी भी बैंकों की
  • एलबीओ बोले: बैंकों के पास गार्ड नहीं, पुलिस सहयोग नहीं करती, इसलिए रात में बंद करा देते हैं एटीएम 
  • एएसपी ने कहा: बैंक वाले अपनी गलती छिपाने पुलिस पर आरोप लगा रहे, पुलिस तो पूरी रात गश्त करती है

सूरजपुर. रात 10 बजे के बाद किसी इमरजेंसी में कैश की जरूरत हो तो शहर के एटीएम पर भटकना बेकार है। क्योंकि रात 10 बजे के बाद एटीएम के शटर डाउन हो जाते हैं। शहर के किसी भी एटीएम पर रात में लोगों को सुविधा नहीं मिलती। बैंक अफसर इसे सुरक्षा का डर और पुलिस का सहयोग नहीं करना बताते हैं। जबकि एटीएम की सुरक्षा के लिए गार्ड रखने की जिम्मेदारी बैंकों की ही है। 

 

आमतौर पर एटीएम में 24 घंटे सुविधा देने का दावा किया जाता है। उपभाेक्ताओं से इसके बदले हर साल नियमित शुल्क भी वसूला जाता है। लेकिन शहर में सरकारी से लेकर प्राइवेट बैंक के एटीएम पर 24 घंटे के बजाए 12-14 घंटे की ही सेवा मिल रही है। शहर में रात 10 बजे से बंद होने पर भास्कर ने पड़ताल तो बैंक अफसरों ने सुरक्षा काे इसका कारण बताया।

1) सरकारी हो या प्राइवेट सभी के एटीएम में लग जाता है ताला 

शहर में सरकारी और प्राइवेट बैंकों के मिलाकर 12 से अधिक एटीएम हैं। बैंक जिन पर 24 घंटे सुविधा देने का दावा करती है। लेकिन स्टेट बैंक के दो एटीएम, सेंट्रल बैंक के दो ब्रांच व दो एटीएम, बैंक आॅफ बड़ौदा, पंजाब नेशनल बैंक, एक्सिस बैंक, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, यूको बैंक, समेत अन्य बैंक और एटीएम हैं। जिनमें से अधिकांश रात में बंद हो जाते हैं। मंगलवार की रात में मात्र दो बैंकों के एटीएम खुले तो नजर आए, लेकिन उनमें गार्ड नहीं थे। 

रात में सुविधा न मिलने के अलावा दिन में कई बार एटीएम में लोगों को सुविधा नहीं मिलती। महीने में कम से कम 10 दिन एटीएम विभिन्न कारणों से बंद रहते हैं। अभी एटीएम में कैश नहीं होता तो कभी नेटवर्क के कारण एटीएम बंद होते हैं। बैंक और एटीएम का मेंटेनेंस करने वाली कंपनियों की लापरवाही का खामियाजा आम उपभोक्ता उठाते हैं। 

शहर के एटीएम में सुरक्षा इंतजामों को लेकर भास्कर ने पड़ताल की तो किसी भी एटीएम में सुरक्षा गार्ड नजर नहीं आया। रात में दूर, दिन में भी एटीएम की सुरक्षा भगवान भरोसे रहती है। दिन में चहल-पहल होने के कारण एटीएम खुले रहते हैं, जो रात होते ही बंद कर दिए जाते हैं। सुरक्षा इंतजाम न होने के कारण लोगों को रात में एटीएम की सुविधा नहीं मिलती।