कार्रवाई / ऑपरेटिंग के बाबू व प्वाइंट्समैन की सूचना पर होती थी डीजल-पेट्रोल की चोरी



डीजल चोरी में पकड़े गए आरोपी चोर (ऊपर) व चोरी कराने वाले आरोपी रेलवे कर्मचारी (नीचे) डीजल चोरी में पकड़े गए आरोपी चोर (ऊपर) व चोरी कराने वाले आरोपी रेलवे कर्मचारी (नीचे)
X
डीजल चोरी में पकड़े गए आरोपी चोर (ऊपर) व चोरी कराने वाले आरोपी रेलवे कर्मचारी (नीचे)डीजल चोरी में पकड़े गए आरोपी चोर (ऊपर) व चोरी कराने वाले आरोपी रेलवे कर्मचारी (नीचे)

  • ऑयल वैगन से 1400 लीटर डीजल चोरी का मामला, रेल कर्मियों की मिलीभगत उजागर, आठ गिरफ्तार
  • सरगना बाबू सहित 4 लोगों से होती थी बात, ऑयल वैगन के एक-एक पल की जानकारी होती थी चोरों को 

Dainik Bhaskar

Mar 25, 2019, 10:16 AM IST

बिलासपुर. ऑयल वैगन से डीजल चोरी के मामले में आखिरकार ऑपरेटिंग विभाग के दो कर्मचारियों की मिलीभगत उजागर हो गई। पकड़े गए 6 डीजल चोरों द्वारा दी गई जानकारी के बाद ऑपरेटिंग विभाग के लिपिक और एक प्वाइंट्समैन सहित सभी 8 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। एक चोर और प्वाइंट्समैन रिश्ते में आपस में मामा-भांजा हैं। इस वजह से चोरों को ऑयल वैगन के हर एक मूवमेंट की जानकारी होती थी। यह कारोबार लंबे समय से चल रहा है। इन दो कर्मचारियों के अलावा अफसरों के शामिल होने की भी संभावना जताई जा रही है। 

मामा-भांजा मिलकर चला रहे रहे थे चोरी का धंधा

  1. ट्रेनों के परिचालन की पूरी जवाबदारी ऑपरेटिंग विभाग की है। इस विभाग के अधिकारी-कर्मचारी अपने हिसाब से ट्रेनों को चला और रोक सकते हैं। विभागीय अधिकारी और कर्मचारी ही चोरी का पूरा जाल बुन रहे हैं। बिलासपुर से ऑयल टैंकर कब-कब गुजरना है। उसे कहां-कहां पर रोका जाएगा। इसकी एक-एक पल की खबर तेल माफिया बाबू ऊर्प असलम और उसके चार साथी बिलाल अंसारी, सोना सोनवानी और जैनिल मसीह के पास होती थी। इनमें से जैनिल मसीह ऑपरेटिंग विभाग के प्वाइंट्समैन डनिल्ड विलियम का भांजा है। उससे हर दिन उसकी बात होती थी। इसके अलावा ऑपरेटिंग का लिपिक स्वराज नाग चौधरी तेल माफिया असलम ऊर्फ बाबू, बिलाल अंसारी व सोना सोनवानी से लगातार संपर्क में रहकर पूरी जानकारी देता रहता था। 

  2. मोबाइल लोकेशन से पकड़े गए चोर 

    12 मार्च को इंद्रपुरी इलाके में आउटर पर लाल सिग्नल पर खड़े ऑयल वैगन से 1400 लीटर डीजल चोरी करने वाले गैंग के फरार हुए 6 चोरों और उनका साथ देने वाले रेलवे ऑपरेटिंग विभाग के लिपिक व प्वाइंट्समैन को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरपीएफ ने बाबू के साथ-साथ बिलाल अंसारी, सोना सोनवानी और जैनिल मसीह के मोबाइल फोन को सर्विलांस में डाला। इसके बाद इसके बाद बिलाल अंसारी का फोन लोकेशन मिला। इसके बाद अन्य का भी लोकेशन मिला। आरपीएफ उसलापुर के प्रभारी वीरेंद्र कुमार को सूचना मिली कि कुछ लोग इंद्रपुरी क्षेत्र में फिर से तेल चोरी की योजना बना रहे हैं। इस पर वीरेंद्र कुमार अपनी पूरी टीम के साथ मौके पर पहुंचे तो देखा कि कुछ युवक झाड़ियों के प्लास्टिक का जेरीकेन निकाल रहे हैं। वे पास ही खड़े छोटा हाथी में बैठने वाले थे उसी समय आरपीएफ ने इन्हें पकड़ लिया। मुख्य सरगना बाबू व एक अन्य आरोपी की अभी भी तलाश की जा रही है। 

  3. रेल कर्मियों को प्रति रैक मिलते थे रुपए 

    आरोपियों ने बताया कि लिपिक स्वराज नाग चौधरी की ड्यूटी ऑपरेटिंग कंट्रोल रूम में ड्यूटी करता है। वहां से वह फोन पर ऑयल वैगन की जानकारी देता था। इसके एवज में उसे 10 हजार रुपए दिया जाता था। प्वाइंट्समैन डनिल्ड विलियम उर्फ दानू विलियम की ड्यूटी तिफरा ओवरब्रिज के नीचे पाइंट सेटिंग स्थल पर थी। वह वहां से ट्रेनों की आवाजाही और सिग्नल सेटिंग के बारे में बताता था। साथ ही आरपीएफ के लोगों के आने की सूचना भी देता था। इस काम के एवज में उसे प्रत्येक रैक का पांच हजार रुपए दिया जाता था। 

  4. इन्हें पकड़कर जेल भेजा 

    बिलाल अंसारी निवासी अटल आवास राजकिशोर नगर, इमानवेल पीटर निवासी ओमनगर जरहाभाठा, जैनिल मसीह ऊर्फ जेंटो निवासी रिंगरोड, मोहम्मद इस्लाम निवासी शारदा नगर तालापारा, सोना सोनवानी पिता, गौ करण राज निवासी मसीह टेंट हाउस के पास, लिपिक स्वराज नाग चौधरी निवासी रेलवे कंस्ट्रक्शन कालोनी व डनिल्ड विलियम निवासी घासीदास मंदिर के पास तारबाहर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। 

  5. घटना को अंजाम देकर जो भी लोग फरार हुए हैं उनकी तलाश की जा रही है। मुख्य आरोपी और उसका एक साथी वसीम अभी फरार हैं। उनके मिलने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।

    डी बस्तिया, आरपीएफ पोस्ट प्रभारी बिलासपुर 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना