--Advertisement--

हड़कंप / हेल्थ अफसर की कर्मचारियों को चिट्ठी-पुरुष नसबंदी शिविर के लिए केस नहीं लाए तो दंडात्मक कार्यवाही



bilaspur health officers forcing employees to get men for sterilization
X
bilaspur health officers forcing employees to get men for sterilization

  • पूर्व के नसबंदी कांड में 13 महिलाओं की मौत से नहीं लिया सबक, 50 कर्मचारियों को नोटिस
  • नसबंदी पखवाड़े को लेकर परेशान कर्मचारी कह रहे कहां से पकड़ कर लाएं पुरुषों को

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 11:10 AM IST

आशीष दुबे। बिलासपुर. जिले में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कुछ साल पहले हुए नसबंदी कांड से हुई 13 महिलाओं की मौत से जरा भी सबक नहीं लिया। एक बार फिर से पुरुषों की नसबंदी के लिए कर्मचारियों पर दबाव डाला जा रहा है। नसबंदी पखवाड़े में केस नहीं लाने के कारण 50 कर्मचारियों को नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में सभी कर्मचारियों को चेतावनी दी गई है कि यदि वे आने वाले पखवाड़े में पुरुषों को नसबंदी के लिए नहीं लाएंगे तो उनके खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई होगी। मामले में अधिकारी कुछ भी कहने से कतरा रहे हैं।

टारगेट पूरा नहीं करने पर उच्चाधिकारी जता चुके हैं नाराजगी

  1. हैरानी यह है कि जिले के सीएमएचओ डॉ. भारतभूषण बोर्डे को इस बात का पता तक नहीं है कि उनके विभाग से ऐसी कोई चिट्ठी कर्मचारियों के जारी हुई है। जबकि जिन्होंने यह पत्र बतौर नोडल अधिकारी जिले के सभी आरएचओ को भेजा है वे खुद ही इससे ऐसा कुछ करने से इनकार कर रहे हैं। 

  2. सवाल उठना लाजिमी है कि ये चिट्ठी आखिर किसके आदेश से जारी हुई है। और कौन पुरुषों की नसबंदी के लिए विभागीय कर्मचारियों पर दबाव बनवा रहा है? बताया जा रहा है कि पिछली बार रायपुर में हुई बैठक में सीएमएचओ डॉ. बीबी बोर्डे को पुरुष नसबंदी में टारगेट पूरा नहीं करने पर बड़े अधिकारियों ने नाराजगी जाहिर की थी। 

  3. उन्हें नसबंदी पखवाड़ा में टारगेट पूरे करने का निर्देश मिला। इसी बात पर उन्होंने बिलासपुर पहुंचकर अधिकारियों को इसे पूरा करने के निर्देश दिए। तब जिला परिवार कल्याण एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने सारे कर्मचारियों को ऐसा करने पर जोर दिया।

  4. जब नोटिस जारी हुआ तो कर्मचारी इसकी शिकायत करने लगे और स्वास्थ्य के अफसर दबाव में आ गए। अब हालात यह है कि कोई भी इस मामले में कुछ भी कहने से कतरा रहा है। खुद सीएमएचओ ऐसी किसी जानकार से अनजान बन रहे हैं। साफ तौर पर कह रहे हैं उन्हें कुछ भी पता नहीं है। 

  5. मुझे कुछ नहीं पता 

    मुझे नसबंदी पखवाड़े में केस नहीं लाने पर किसी कर्मचारी को भेजे गए नोटिस के बारे में कुछ पता नहीं है। मैं पता करके ही कुछ बता पाऊंगा।

    डाॅ. भारतभूषण बोर्डे, सीएमएचओ बिलासपुर 

  6. दफ्तर आइए तब मिलेगी जानकारी 

    मैंने किसी कर्मचारी को नोटिस नहीं भेजा। आप दफ्तर आइए तब इसके संबंध में फाइल देखकर कुछ बता पाऊंगा। अभी मुझे कोई जानकारी नहीं है।

    डॉ. सुजॉय मुखर्जी, नोडल अधिकारी, नसबंदी पखवाड़ा 

     

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..