छत्तीसगढ़ / केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी के खिलाफ पोस्ट करने वाले कर्मचारी के निलंबन पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक



bilaspur news Bilaspur High Court said - posting on Facebook is freedom of expression,  govt employee suspension ban
X
bilaspur news Bilaspur High Court said - posting on Facebook is freedom of expression,  govt employee suspension ban

  • बिलासपुर हाईकोर्ट ने कहा- फेसबुक पर पोस्ट करना अभिव्यक्ति की आजादी
  • आबकारी विभाग में पदस्थ आरक्षक ने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को लेकर किया था पोस्ट
  • कोर्ट ने कहा- फेसबुक पर विचार रखना सरकार के खिलाफ टिप्पणी नहीं, शासन को भेजा नोटिस

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 06:27 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने फेसबुक पर विचार रखने को सरकार के खिलाफ टिप्पणी नहीं माना है। जस्टिस पी. सेम कोशी की कोर्ट ने इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता माना। इसके साथ ही आबकारी विभाग में पदस्थ एक आरक्षक के निलंबन पर बिलासपुर हाईकोर्ट ने गुरुवार को रोक लगाते हुए शासन को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है। याचिकाकर्ता ने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी को लेकर फेसबुक पर  पोस्ट डाली थी, जिसके बाद विभाग ने उसे निलंबित कर दिया था। इस निलंबन के खिलाफ आरक्षक ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। 

याचिकाकर्ता ने कहा- उसने अपने विचार पोस्ट किए, पर भाषा मर्यादित थी

  1. जानकारी के मुताबिक, याचिकाकर्ता अनुभव तिवारी ने कोर्ट में दाखिल की गई याचिका में बताया था कि वह जांजगीर-चांचा जिले के बाराद्वार में आबकारी विभाग में आरक्षक के पद पर पदस्थ थे। इस दौरान उन्होंने केंद्रीय मंत्री को लेकर फेसबुक पर पोस्ट किया था। इस पोस्ट को लेकर विभाग की ओर से उन पर कार्यवाही की गई। अनुभव तिवारी ने यह याचिका अधिवक्ता संदीप दुबे के माध्यम से दाखिल की थी। 

  2. इसके साथ ही याचिकाकर्ता ने कोर्ट को बताया कि उसने केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी की शिक्षा, कबिर जयंती पर शराब पर प्रतिबंध जैसे कई पोस्ट फेसबुक पर किए थे, लेकिन उनकी भाषा मर्यादित थी। उसने सिर्फ अपने विचार सोशल मीडिया पर रखे थे, लेकिन पोस्ट को आधार पर उसे विभाग ने निलंबित कर दिया। याचिकाकर्ता ने कहा कि फेसबुक पोस्ट अपना विचार व्यक्त करना है न कि सरकार के खिलाफ टिप्पणी करना है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना