विज्ञापन

अमानवीयता  / माहभर पहले गोद ली बच्ची को महिला प्रोफेसर ने इतना पीटा कि सूज गई पीठ

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 10:43 AM IST


bilaspur news adopted daughter badly tortured by woman professor
X
bilaspur news adopted daughter badly tortured by woman professor
  • comment

  • ग्रीन सिटी निवासी महिला नर्सिंग कॉलेज में है प्रोफेसर,  पिटाई से गाल में सूजन
  • जानकारी मिलने पर सेवाभारती वापस लेकर आई, कार्रवाई के लिए बाल विकास विभाग को लिखा

बिलासपुर. माह भर पहले गोद ली गई बच्ची की निर्ममतापूर्वक पिटाई का मामला सामने आया है। नर्सिंग कॉलेज की महिला प्रोफेसर ने उसे इतना पीटा कि पीठ पर निशान पड़ गए और गाल सूज आया। जानकारी मिलने पर सेवा भारती ने बच्ची को अपने कब्जे में ले लिया है। संस्था ने महिला एवं बाल विकास विभाग को आगे की कार्रवाई के लिए सूचना भेज दी है।

तलाकशुदा प्रोफेसर की नई थी कोई संतान

  1. बिलासपुर में ग्रीन सिटी निवासी दिव्या मिश्रा 47वर्ष नर्सिंग कॉलेज की प्रोफेसर हैं। वे तलाकशुदा हैं। उनकी कोई बच्ची नहीं है। माह भर पहले उन्होंने रायगढ़ सेवा भारती से एक बच्ची को गोद लिया था। शनिवार को संस्था को जानकारी मिली कि वे बच्ची से मारपीट करती हैं। सूचना मिलते ही संस्था ने अपने बिलासपुर स्थित आफिस में इसकी जानकारी दी। यहां से सेवा भारती के पदाधिकारी नर्सिंग कॉलेज की प्रोफेसर के घर गए। बच्ची को देखा तो उसके शरीर में जगह-जगह चोट के निशान पाए गए। गाल सूज गया था। पीठ व हाथ में चोटें थीं। 

  2. सेवा भारती के पदाधिकारी उसे महिला से लेकर अपने संस्था के दफ्तर में ले आए और मध्यनगरीय चौक स्थित बच्चों के अस्पताल ले जाकर उसका इलाज कराया। संस्था के दिनेश कनस्कर ने बताया कि मामले की जानकारी महिला एवं बाल विकास विभाग को दे दी है। पीठ पर निशान बता रहे कि बच्ची को महिला ने किस तरह बेरहमी से पीटा, चेहरे पर भी सूजन है, मासूम की पहचान उजागर न हो इसलिए उस फोटो को प्रकाशित नहीं कर रहे। वहीं महिला प्रोफेसर दिव्या मित्रा ने कुछ भी जानकारी देने से मना कर दिया। उनका कहना है कि वे मामले में कुछ भी नहीं बताएंगी। 

  3. महिला बाल विकास विभाग गंभीर नहीं ,थाने को सूचना नहीं 

    मामला गंभीर होने के बाद भी महिला बाल विकास विभाग ने पुलिस को सूचना नहीं दी। विभाग के अधिकारी सुरेश सिंह से बातचीत करने का प्रयास किया पर नहीं हो पाया। पहली बार उन्हांेने फोन रिसीव किया पर कहा कि सो रहे थे, काल आने से उनकी नींद खुल गई फिर फोन कट गया। दूसरी बार उन्होंने काॅल ही रिसीव ही नहीं किया। 

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन