छत्तीसगढ़  / एंबुलेंस सेवा लेने वालों में बिलासपुर प्रदेश में पहले नंबर पर, पेट की बीमारियों में भी नंबर एक



bilaspur news Bilaspur at number one in 108 ambulance service seekers in State
X
bilaspur news Bilaspur at number one in 108 ambulance service seekers in State

  • 22 दिनों में 839 बार ली गई सेवाएं, 108 ने 584 गर्भवतियों को पहुंचाया अस्पताल 
  • राजधानी रायपुर दूसरे नंबर पर, प्रदेश में जीवीके ईएमआरआई कंपनी करती है संचालन

Dainik Bhaskar

Jun 23, 2019, 11:52 AM IST

बिलासपुर. एंबुलेंस 108 की सेवा लेने वालों में बिलासपुर का नाम सबसे अव्वल है। प्रदेश के 27 जिलों में 1 जून से 22 जून तक 10414 बार इसकी सेवाएं ली गई। गाड़ी का विभिन्न तरह के बीमार व दुर्घटनाओं में घायल लोगों के लिए किया गया। इधर प्रदेश में सबसे अधिक जनसंख्या होने के बाद भी रायपुर का नाम एंबुलेंस सेवा लेने वालों में दूसरे नंबर पर है। 22 दिन के भीतर बिलासपुर में इस गाड़ी का उपयोग 839 व रायपुर में 791 बार की गई है। वहीं बिलासपुर में सबसे ज्यादा पेट से संबंधित रोगियों को एंबुलेंस की सेवाएं दी गईं।  राजनांदगांव 108 की सेवा लेने के मामले में तीसरे नंबर पर है।

108 के पास घायलों के अलावा 24 तरह के बीमारों के आंकड़े

  1. प्रदेश में 2008 में 108 सेवा शुरू की गई थी। इसका संचालन जीवीके ईएमआरआइ कंपनी के पास है। छत्तीसगढ़ के सभी 27 जिलों में संजीवनी एंबुलेंस सेवाएं उपलब्ध है। 108 पर कॉल करने पर यह गाड़ी 20 मिनट के भीतर संबंधित स्थान पर पहुंच जाती है और दुर्घटना से घायल व बीमार लोगों को अस्पताल पहुंचाकर मदद करती है। 

  2. इसमें प्राथमिक इलाज भी दिया जाता है। यह सबसे महत्वपूर्ण है। 108 में बीमारी व घायलों को मिलाकर 24 प्रकार के पीड़ित लोगों के आंकड़े होते हैं। दैनिक भास्कर ने एक जून से लेकर 22 जून तक प्रदेश के सभी जिलों का यह आंकड़ा हासिल किया तो यह गाड़ी सबसे अधिक बिलासपुर में तो चल रही है साथ ही साथ सभी तरह के आंकड़ों में यह अव्वल है। 

  3. पिछले 22 दिन के रिकार्ड में टॉप टेन 

    जिला  उपयोग
    बिलासपुर 839
    रायपुर 791
    राजनांदगांव 761
    दुर्ग 636
    जांजगीर चांपा 481
    कांकेर 480
    जशपुर 447
    बालौद 443
    धमतरी 428
    सूरजपुर 428
    सरगुजा 401

  4. बीमारी के आंकड़ों में भी टॉप पर बिलासपुर 

    जीवेके कंपनी के पास 108 का हर रोज का आंकड़ा दर्ज होता है। इसमें मरीजों के प्रकृति के बारे की जानकारी रहती है। रजिस्टर में इसके लिए अलग अलग 24 कालम बनाएं गए हैं। सभी आंकड़ों में बिलासपुर का नाम उपर है। 


    पेट संबंधी सबसे अधिक रोगी,दूसरे नंबर पर प्रेगनेंसी 
    108 में ले जाने वालों में पेट रोग संबंधी रोगियों की संख्या सबसे अधिक है। पूरे प्रदेश में में 1201 लोगों को इस बीमारी के इलाज के लिए अस्पताल लाया गया। दूसरे नंबर पर इन 22 दिनों में बिलासपुर पेट संबंधी 1201 व 584 गर्भवती महिलाओं को अस्पताल पहुंचाया गया। इसमें बुखार से पीड़ित 636लोगों को भेजा गया। इसी तरह 263 दिल के रोगी है व 603 बेहोश लोगों को इलाज के लिए लाया गया। इन सभी में बिलासपुर का आंकड़ा सबसे उपर है। 

  5. सीमित संसाधनों के बाद भी अधिकारी कर्मचारी डटे हुए 

    108 की 17 में से 13 गाड़ियां खटारा हो चुकी है। इसके बाद भी इन्हें ठीक करके चलाया जा रहा है। इसके अधिकारी कर्मचारियों के पास न तो आफिस है और न ही जरूरी संसाधन इसके बाद भी यह सुविधाएं लोगों तक पहुंचा रहे हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना