छत्तीसगढ़  / पंजाब और ओडिशा का ढाबा मालिक ट्रेनों में घूम-घूमकर करता था चोरियां, गिरफ्तार



प्रतिकात्मक फोटो प्रतिकात्मक फोटो
X
प्रतिकात्मक फोटोप्रतिकात्मक फोटो

  • अमरकंटक एक्सप्रेस से ट्राॅली बैग चोरी करने के बाद 24 घंटे में पकड़ा गया 
  • विकलांग प्रमाण पत्र मिला, जो तस्वीर लगी है उसमें सरदारों वाली पगड़ी

Dainik Bhaskar

Nov 08, 2019, 10:46 AM IST

बिलासपुर. दो राज्यों में हाइवे पर ढाबा। रिजर्वेशन टिकट पर यात्रा। काम ट्रेनों में चोरी करना। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, ओडिशा और महाराष्ट्र को चोरियों का ठिकाना बनाया। एक दिन पहले अमरकंटक एक्सप्रेस से यात्री का ट्राली बैग चोरी किया और पकड़ा गया। अंतरराज्यीय चोर से जो सामान जब्त हुआ उसमें विकलांग प्रमाण पत्र भी है। इसमें लगी तस्वीर में वह पगड़ी पहना हुआ सरदार दिख रहा है। बुधवार शाम को जो चोर पकड़ा गया उसके पास से ट्रेनों में सफर करने का विधिवत 7 रिजर्वेशन टिकट मिला है। वह रिजर्वेशन कराकर चलता था और मौका पाते ही अन्य यात्रियों का सामान लेकर उतर जाता था। 

सीसीटीवी फुटेज से प्लेटफार्म नंबर 8 पर चोरी के ट्रॉली बैग के साथ पकड़ा गया

  1. 6 नवंबर को भोपाल से दुर्ग जाने वाली अमरकंटक एक्सप्रेस बिलासपुर रेलवे स्टेशन पहुंची। एस 13 के बर्थ क्रमांक 2 और 14 में भिलाई निवासी मोहसिन खान जबलपुर से भिलाई तक के लिए सफर कर रहे थे। ट्रेन बिलासपुर पहुंची तो उन्होंने देखा कि उनका ट्राली बैग नहीं है। उनका बैग उसलापुर से बिलासपुर के बीच चोरी हुआ था। उन्होंने जीआरपी में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई। दो दिन पहले ही 6 चोरियां होने के बाद प्लेटफार्म पर फिर हुई चोरी ने आरपीएफ व जीआरपी के अफसरों को सकते में डाल दिया। उन्होंने सीसीटीवी फुटेज देखा। इसमें एक व्यक्ति ट्राली बैग ले जाते हुए दिखाई दिया।

  2. इसके बाद जीआरपी ने प्लेटफार्म नंबर 8 पर उसे पकड़ लिया। आरोपी जगरूप सिंह पिता मेहर सिंह निवासी ग्राम मीरपुर हास थाना जगरांव जिला लुधियाना पंजाब का रहने वाला है। उसके पास से ट्राली बैग जब्त किया गया। जो प्रार्थी का था उनके बताए अनुसार बैग में 10 हजार रुपए नकद, चांदी की बिछिया, कान की बाली व इस्तेमाली कपड़े थे। आरोपी के पास से 21 हजार रुपए नकद, चांदी की बिछिया, कान की बाली, अलग-अलग ट्रेनों के 7 टिकट, पेचकस, पेंचिस, दो कटर, एक सूजा व अन्य तरह के सामान मिले जिससे वह सूटकेस का ताला तोड़ने और बैग को काटने में इस्तेमाल करता था। 

  3. दो राज्यों में ढाबे का संचालन और सफर की कहानी 

    जीआरपी प्रभारी बीएन मिश्रा और आरपीएफ पोस्ट प्रभारी डी बस्तिया ने बताया कि आरोपी जगरूप पंजाब का रहने वाला है। वहां हाइवे पर उसका ढाबा है। वर्षों पूर्व उसके पिता राउरकेला में रहा करते थे इसलिए उसकी शादी ओडिशा के गांव सतारा जिला गंजाम में हुई थी। उसने अपने ससुराल के गांव के हाइवे में भी ढाबा खोल रखा है। उसने सारी चोरियां मध्यप्रदेश, महाराष्ट, छत्तीसगढ़ और ओडिशा में ही ट्रेनों में घूम-घूमकर की हैं। 2009 से वह इस काम में सक्रिय है और दो बार पकड़ा जा चुका है। अंतरराज्यीय चोर के खिलाफ राउरकेला और इटारसी, पिपरिया में भी मामला दर्ज है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना