छत्तीसगढ़  / सीआईएसएफ के रिटायर्ड एएसआई को सड़क पर बैठकर शराब पीते पकड़ा तो डीएसपी को दिखाई धौंस



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • पेट्रोलिंग के दौरान सकरी थाना पुलिस ने उसलापुर रोड से पकड़ा, सड़क पर ही देने लगे धमकी
  • पुलिस थाने ले गई तो कई लोगों से कॉल भी कराया, पर बात नहीं बनी तो माफी मांगने लगे

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 10:48 AM IST

बिलासपुर. सीआईएसएफ के रिटायर्ड एएसआई सड़क पर खुलेआम शराब पी रहे थे, पकड़े जाने पर प्रभारी डीएसपी व सकरी टीआई को उन्होंने धौंस दिखाई और धमकाया भी। पुलिस उन्हें थाने ले गई। इस दौरान उन्होंने कई लोगों से फोन करवाए पर डीएसपी ने आखिर कार्रवाई करके ही दम लिया। रिटायर्ड एएसआई के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत कार्रवाई की गई। मामला सकरी थाना क्षेत्र का है। 

सड़क पर पकड़े गए तो खुद को विभागीय अफसर बताया

  1. यहां पदस्थ प्रशिक्षु डीएसपी व थाना प्रभारी अभिनव उपाध्याय बुधवार रात अपनी टीम के साथ पेट्रोलिंग पर निकले थे। वे उसलापुर पहुंचे थे। इसी दौरान उन्हें सड़क पर बैठकर दो लोग शराब पीते नजर आए। उन्होंने टीम के साथ दोनों को पकड़ लिया। इनमें से एक रामखिलावन नेता (60) सीआईएसएफ के रिटायर्ड एएसआई थे। पकड़े जाने पर उन्होंने पहले तो खुद को विभागीय अफसर बताया और प्रशिक्षु डीएसपी पर धौंस जमाने लगे।

  2. पुलिसकर्मी उन्हें पकड़कर थाने ले आए। यहां पहले तो उन्होंने कई लोगों से कॉल करवाया, लेकिन जब बात नहीं बनी तो रिटायर्ड एएसआई का सुर ही बदल गया। वे गिड़गिड़ाने लगे और माफी मांगनी शुरू कर दी। प्रशिक्षु डीएसपी ने उन्हें नहीं छोड़ा। पुलिस ने एएसआई रामखिलावन और उनके साथी सागरदीप कॉलोनी निवासी रामू यादव (37) के खिलाफ आबकारी एक्ट की धाराओं के तहत कार्रवाई की।

  3. बचाव में पहुंचे कांस्टेबल को भी थाने में बिठाया गया

    थाने में पहुंचते ही रिटायर्ड एएसआई ने अपने परिचित कोरिया जिले के एक कांस्टेबल को भी फोन कर थाने बुला लिया। वह थाने आते ही प्रशिक्षु डीएसपी से सवाल जवाब करने लगा। पूछने लगा कि उन्होंने रवानगी वापसी की है या नहीं। प्रशिक्षु डीएसपी ने उसे भी दो घंटे तक थाने में बिठाया। बाद में कांस्टेबल को समझाइश देकर छोड़ दिया गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना