अमृत मिशन योजना / 2020 तक ट्यूबवेल पर निर्भरता समाप्त होगी, बांध से होगी सप्लाई



बिरकोना में जल शुद्धिकरण संयंत्र व पानी टंकियों का निर्माण चल रहा है, जहां से शहर को पानी सप्लाई किया जाएगा।  बिरकोना में जल शुद्धिकरण संयंत्र व पानी टंकियों का निर्माण चल रहा है, जहां से शहर को पानी सप्लाई किया जाएगा। 
X
बिरकोना में जल शुद्धिकरण संयंत्र व पानी टंकियों का निर्माण चल रहा है, जहां से शहर को पानी सप्लाई किया जाएगा। बिरकोना में जल शुद्धिकरण संयंत्र व पानी टंकियों का निर्माण चल रहा है, जहां से शहर को पानी सप्लाई किया जाएगा। 

  • 66 हजार घरों में नए नल कनेक्शन के साथ मीटर लगेंगे 
  • बिरकोना में बन रहा 200 करोड़ का जल शुद्धिकरण संयंत्र

Dainik Bhaskar

Feb 18, 2019, 10:19 AM IST

सूर्यकान्त चतुर्वेदी। बिलासपुर. अगर सबकुछ सही चलता रहा तो जल्द ही ट्यूबवेल पर निर्भरता समाप्त हो जाएगी और बांध से पेयजल की सप्लाई की जाएगी। इसके साथ ही 66 हजार घरों में नए नल कनेक्शन के मीटर लगेंगे। अमृत योजना के तहत 301 करोड़ की सतही जलप्रदाय योजना 2020 तक पूरी होने की संभावना है। 

शहर में पानी की सप्लाई के लिए 4680 व 2090 लीटर की टंकियां निर्माणाधीन

  1. बिरकोना में इन दिनों पानी के शुद्धिकरण के लिए 72 एमएलडी क्षमता के ट्रीटमेंट प्लांट की स्थापना का काम तेजी से चल रहा है। इसके साथ ही शहर भर में पानी सप्लाई के लिए दो बड़ी पानी टंकियां जिनकी क्षमता 4680 किलोलीटर और 2090 किलोलीटर है, का भी निर्माण किया जा रहा है।

  2. खूंटाघाट बांध का पानी ट्रीटमेंट प्लांट से शुद्ध होकर दोनों पानी टंकियों में चढ़ाया जाएगा। इसके बाद यहीं से शहर भर की 22 पानी टंकियों के जरिए पानी की सप्लाई की जाएगी। मौजूदा पानी टंकियों के अतिरिक्त शहर में चार नई पानी टंकियों का निर्माण कार्य होना है।

  3. ये तोरवा, तारबाहर, चांटीडीह और पटवारी प्रशिक्षण केंद्र के पास बनेंगे। पूरी योजना 2020 में पूरी होगी। इसके बाद पेयजल के लिए ट्यूबवेल पर शहर की निर्भरता समाप्त हो जाएगी। वर्तमान में शहर में 534 ट्‌यूबवेल के जरिए पानी सप्लाई किया जा रहा है।

  4. इसके अतिरिक्त कालोनियों और निजी घरों में बेहिसाब संख्या में ट्यूबवेल हैं। भविष्य की जरूरतों के लिए इसे सुरक्षित करने के लिए ही केंद्र सरकार की अमृत मिशन योजना के अंतर्गत शहर को खूंटाघाट बांध से सतही जल प्रदाय की योजना चलाई जा रही है। 

  5. अहिरन की योजना से पहले मिलेगा पानी 

    नगर निगम के कार्यपालन अभियंता सुरेश बरुआ के मुताबिक खूंटाघाट बांध को भरने के लिए अहिरन नदी से पानी लाने की योजना पूरी होने तक जल संसाधन विभाग ने बांध से पानी सप्लाई का कमिटमेंट किया है। इसके लिए कमिटमेंट चार्ज 7 लाख रुपए विभाग को जमा करा दिया है। अनुबंध के मुताबिक जल संसाधन विभाग शहर को बांध में पानी की उपलब्धता के मुताबिक पानी सप्लाई करेगा।

  6. यानी 2020 में बिरकोना में पानी टंकियों का निर्माण पूर्ण होने तथा शहर में वितरण लाइन का काम पूरा होते ही पानी सप्लाई शुरू करने में कोई बाधा नहीं है। खूंटाघाट बांध की क्षमता 192 मिलियन घनमीटर है। नगर निगम ने जल संसाधन विभाग से वर्ष भर में 31 मिलियन घनमीटर पानी की मांग की है। 

  7. 267 किलोमीटर नई पाइप लाइन बिछेगी 

    खूंटाघाट से बिरकोना तक पानी सप्लाई के लिए 26.50 किलोमीटर पाइप लाइन बिछाने का काम शुरू हो गया है। इसके साथ ही बिरकोना से शहर की 22 पानी टंकियों तक पानी पहुंचाने के लिए 32 किलोमीटर पाइप लाइन बिछाने का भी काम शुरू किया गया है।

  8. बिरकोना में ट्रीटमेंट प्लांट और पानी टंकियों के निर्माण सहित पूरी योजना 201.14 करोड़ की है। इसी प्रकार शहर में 267 किलोमीटर वितरण लाइन बिछाई जाएगी। इसमें से मौजूदा 176 किलोमीटर जीआई और सीआई पाइप के स्थान पर डीआई पाइप बिछाई जाएगी। नई योजना में शहर के सभी 66 हजार घरों में नए नल कनेक्शन के साथ वाटर मीटर लगाए जाएंगे। इन सब में 100 करोड़ रुपए और खर्च होंगे। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना