छत्तीसगढ़  / 6 के बदले 50 लाख वसूले, घर भी खाली करवा रहे थे सूदखोर, रिटायर अफसर ने लगा ली फांसी

प्रतिकात्मक फोटो प्रतिकात्मक फोटो
X
प्रतिकात्मक फोटोप्रतिकात्मक फोटो

  • निराला नगर स्थित अपने मकान में सीएसईबी के पूर्व सेक्शन ऑफिसर ने की आत्महत्या
  • अंतिम चिट्‌ठी में लिख गए-जिनके कारण खुदकुशी कर रहा हूं उन्हें पुलिस कड़ी सजा दे 

दैनिक भास्कर

Nov 01, 2019, 10:09 AM IST

बिलासपुर. सूदखोरों से परेशान होकर सीएसईबी के पूर्व सेक्शन ऑॅफिसर भूपेंद्र शर्मा ने निराला नगर स्थित अपने मकान में फांसी लगा ली। खुदकुशी करने से पहले उन्होंने दो पेज का सुसाइड नोट लिखा है। इसमें बताया है कि किस तरह उनसे सूदखोर 6 लाख के बदले 50 लाख तक वसूल चुके हैं तथा अब और रकम की मांग कर घर अपने नाम पर करने का दबाव बना रहे हैं। साथ ही सुसाइड नोट में यह भी लिख गए कि जिनके कारण खुदकुशी कर रहा हूं पुलिस उन्हें कड़ी सजा दे। फिलहाल मर्ग कायम किया गया है। 

बेटा जेल में, बेटी की शादी संकट में और उधर सूदखोर कर रहे थे तंग

रिटायर्ड अफसर भूपेंद्र शर्मा के बेटे सौम्यदीप शर्मा यूक्रेन में अवधेश कुमार के साथ मेडिकल की पढ़ाई कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने काफी फिजूलखर्ची की। इसके लिए अवधेश ने जमीन बेच दी और सौम्यदीप को फंसाकर जेल भिजवा दिया। भूपेंद्र की छोटी बेटी अपूर्वा की शादी मुंबई में तय हुई थी। भूपेंद्र शर्मा का कहना था कि अवधेश उस शादी को तोड़ने की कोशिश कर रहा है। भूपेंद्र शर्मा के अनुसार उन्होंने जयलाल पंजवानी के माध्यम से प्रमोद यादव से करीब 6 लाख रुपए उधार लिया था और बदले में अब तक वे 50 लाख रुपए दे चुके थे। 

इसके बाद नवीन तिवारी व शैलेंद्र सिंह के साथ प्रमोद यादव लगातार पैसे के लिए दबाव बना रहा था। उनसे अपना मकान सौंपने के लिए कहा जा रहा था। एक दिन पहले भी 6-7 लोग उन्हें धमकाने घर आए थे। बेटा जेल में, बेटी की शादी संकट में और सूदखोर कई गुना रकम वसूलने के बाद भी परेशान कर रहे थे। इस कारण उनके सामने जान देने के अलावा और शायद कोई विकल्प नहीं बचा था। उनके कमरे से दो सुसाइड नोट मिले। पुलिस ने उन्हें बरामद किया। पुलिस उनकी हैंड राइटिंग एक्सपर्ट से जांच कराएगी। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना