जल संकट / जनता ने 20 हाइवा जलकुंभी निकाली, ठेकेदार ने पांच गुना कचरा अरपा नदी में कर दिया डंप

bilaspur news public drove 20 trucks hyacinth, contractor dumped five times garbage in Arpa river
X
bilaspur news public drove 20 trucks hyacinth, contractor dumped five times garbage in Arpa river

  • मुख्यमंत्री बघेल भी कह गए थे अरपा को बचाना है, नदी को बचाने के लिए दीर्घकालीन योजनाएं चलाने का किया था ऐलान
  • प्रशासन के ही लोग अरपा को प्रदूषित करने पर तुले, अमृत मिशन के निर्माणकार्य की खुदाई का कचरा व मलबा नदी में डाला

Jun 24, 2019, 10:32 AM IST

बिलासपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 17 जून को शहर प्रवास पर अरपा को बचाने दीर्घकालीन योजनाएं चलाने का ऐलान किया। इसी दिन से अमृत मिशन योजना के अंतर्गत मेलापारा चांटीडीह में पानी टंकी के निर्माण के लिए चल रही खुदाई का कचरा और मलबा नदी में डंप करने की शुरुआत की गई। रविवार को भी डंपिंग होती रही। यहां यह बताना लाजिमी होगा कि पीसीसी प्रेसिडेंट रहते बघेल साल भर पहले कांग्रेस के अरपा बचाओ अभियान में अरपा को प्रदूषण मुक्त करने की बात कह चुके हैं। 

कलेक्टर की अगुवाई में चला था अरपा को साफ करने का अभियान

31 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री के रूप में अरपा के विकास का फिर ऐलान किया। 11 एवं 12 जून को अरपा के छठ घाट पर प्रशासन ने अभियान चलाया। इसमें नागरिकों ने श्रमदान कर 20 हाइवा कचरा, जलकुंभी नदी से निकाला। पहले दिन के अभियान में 10 हजार तथा दूसरे दिन करीब 7 हजार लोग जुटे। कलेक्टर की अगुवाई में चले अभियान को पांच दिन भी नहीं गुजरे कि नदी में कचरा, मलबा की डंपिंग निगम की शह पर शुरू हो गई। 

मेलापारा में 26.80 लाख लीटर क्षमता की पानी टंकी के निर्माण के लिए की जा रही खुदाई में मिट्टी कम कचरा ज्यादा निकल रहा। खुद निगम इंजीनियर का आंकलन है कि करीब 100 टन कचरा, मलबा नदी में डंप किया जा चुका है। नगर निगम के अतिक्रमण निवारण दस्ते ने रविवार को दोपहर में दो ट्रकों को मौके पर कचरा डंप करते देखा और 1800 रुपए पेनाल्टी लगाई। नोडल अधिकारी सुरेश बरुआ के मुताबिक ठेकेदार को टंकी का बेस तैयार करने के बाद मलबा खुदाई वाली जगह पर ही पाटना है। उन्होंने सफाई दी कि ठेकेदार ने नदी में डंप नहीं किया है। 

सवाल प्रभाकर पांडेय, निगम आयुक्त 
ठेके की शर्त में नदी में मलबा डंप करने का प्रावधान है?  नहीं। ठेके में नदी में डंप करने का कोई प्रावधान नहीं। 
नदी में बड़ी मात्रा में कचरा, मलबा ठेकेदार ने डंप कर दिया, उसका क्या होगा?  कचरे को उठवाकर उसे प्रोसेसिंग के लिए कछार प्लांट भेजने कहा गया है। 
100 हाइवा कचरे की डंपिंग पर 1800 रुपए पेनाल्टी, बात समझ नहीं आई?  निरीक्षण के दौरान दो हाइवा डंप करते मिले, इसलिए इतनी ही पेनाल्टी लगाई गई। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना