छत्तीसगढ़  / अमृत मिशन : लोग कह रहे- सरकार बदल दी, फिर भी हम तो गड्‌ढे में ही रह गए



देखिए किस तरह आधी सड़क खोद कर छोड़ दी। कैसे गुजरते हैं लोग। देखिए किस तरह आधी सड़क खोद कर छोड़ दी। कैसे गुजरते हैं लोग।
X
देखिए किस तरह आधी सड़क खोद कर छोड़ दी। कैसे गुजरते हैं लोग।देखिए किस तरह आधी सड़क खोद कर छोड़ दी। कैसे गुजरते हैं लोग।

  • 60 करोड़ की सड़कें, खुदाई कर बिना गड्‌ढे भरे छोड़ रहे, लोग धूल से परेशान 
  • सीवेज जैसी लेटलतीफी, पाइप लाइन बिछाने का काम एक साल देर से शुरू 

Dainik Bhaskar

May 31, 2019, 10:06 AM IST

सूर्यकान्त चतुर्वेदी। बिलासपुर. शहर में 11 वर्षों से चल रहे 422 करोड़ के सीवेज प्रोजेक्ट के अंतर्गत सड़कों की खुदाई बार-बार की गई, जो अब तक चल रही है। इस दौरान शहरवासी गड्‌ढे, धूल और ट्रैफिक की परेशानियां झेलने विवश रहे। किसी का हाथ टूटा, तो किसी के पैर टूटे, कई लोग दुर्घटनाओं के शिकार हुए। यह प्रोजेक्ट पूरा नहीं हुआ और अब खूंटाघाट से शहर को पानी सप्लाई के लिए 301 करोड़ की लागतवाली अमृत मिशन योजना के अंतर्गत फिर नए सिरे से सड़कों की खुदाई पाइप लाइन बिछाने के लिए शुरू कर दी गया।

वर्क ऑर्डर हुए अक्टूबर 2017 में, काम शुरू हुआ दिसंबर 2018 में

  1. अमृत मिशन के तहत अबकी बार खुदाई किनारे पर की जा रही है। यह खुदाई तब की जा रही जब सीवेज प्रोजेक्ट के कार्यों से खस्ता हुई सड़कों का 60 करोड़ रुपए से बीटी व कांक्रीटीकरण किया गया। 26 करोड़ से 57 सड़कों के डामरीकरण और 34 करोड़ से गलियों व नालियों के कांक्रीटीकरण का कार्य विधानसभा चुनाव के पूर्व 2018 में किया गया। योजना के अंतर्गत पाइप लाइन बिछाने के लिए वर्क आर्डर 4 अक्टूबर 2017 को दिया गया, लेकिन काम दिसंबर 2018 में शुरू हुआ। साफ है कि चुनावी लाभ के लिए निगम प्रशासन ने आनन फानन में सड़कें तो बनवा दी, परंतु अफसरों को अमृत मिशन योजना की पाइप लाइन बिछाने का काम याद नहीं रहा। 

  2. अशोक नगर रोड में मजदूर की मौत के बाद भी सड़क अधूरी 

    24 फरवरी को अशोक नगर पानी टंकी के पास उस खुदाई के दौरान ढाई मीटर गहरे गड्ढे में मजदूर को बिना सुरक्षा के उतार दिया गया। मिट्टी धंसने के कारण बिहार निवासी संदीप चौधरी दब गया, निकालते समय एक्सवेटर के दांते का हिस्सा सिर पर लगने के कारण संदीप की मौत हुई। मामले की जांच के नाम पर निगम ने लगातार लीपापोती की। कंपनी की ओर से प्रोजेक्ट मैनेजर एनएस त्रिपाठी ने जवाब दिया कि मजदूर को पसीना आ रहा था, इसलिए उसने हेलमेट उतार दिया था। सच्चाई यह है कि मौके पर बिना इंजीनियरों के सुपरवाइजरों के निर्देशन में काम कराया जा रहा था। 

  3. जिम्मेदारों का नया बहाना 

    पानी नहीं मिल रहा

    • नोडल अधिकारी सुरेश बरुआ का कहना है कि मेनरोड की सड़कों को बनाया जाना है। पानी नहीं मिल रहा है। यदि पर्याप्त पानी नहीं मिला तो बिना कांपेक्शन के सड़क बनाने पर सीवेज जैसा हाल होगा। सड़क बार बार धंसेगी। 

    स्लो है, स्पीड अप कर रहे:

    • युक्त प्रभाकर पांडेय का कहना है कि 7-8 किमी सड़कें बन चुकी हैं। हाइड्रो टेस्ट होना है। फिर हाउस कनेक्शन के काम होंगे। इसलिए बनाने के काम में देरी हो रही है। काम स्लो है, स्पीड अप कर रहे हैं। 

  4. सब मिले हुए हैं : विधानसभा भेजी गलत जानकारी जनता के विरोध से खुदाई में देरी 

    प्रोजेक्ट की लेटलतीफी की गूंज विधानसभा में हुई। 2 साल की योजनावधि वाले सीवेज के अतिरिक्त अमृत मिशन के बारे में पूछा गया। दो पार्ट में चल रही अमृत मिशन योजना को क्रमश: पाइप लाइन बिछाने का काम दिसंबर 2019 तथा बिरकोना में ट्रीटमेंट प्लांट और शहर में चार ओवरहेड टैंक के निर्माण का काम अप्रैल 2020 तक पूर्ण करने की डेड लाइन है। निगम प्रशासन की ओर से विधानसभा को भेजी गई जानकारी में पाइप लाइन बिछाने के काम में देरी की वजह 2018 में नई बनी सड़कों की खुदाई का नागरिकों द्वारा विरोध करने की वजह बताई गई। 

  5. जबकि ठेकेदार इंडियन ह्यूम पाइप को पाइप लाइन बिछाने का काम सड़कों के निर्माण के पूर्व अक्टूबर 2017 में दिया गया था। कंपनी का काम साल भर लेट हो चुका है और उसने एक साल के एक्सटेंशन की मांग की है। खबर है कि निगम के अफसर ठेकेदार को एक्सकैवेशन के साथ एक्सटेंशन का लाभ दिलाने के लिए पर्याप्त कागजात तैयार कर चुके हैं। जैसे काम में देरी का दोष जनता पर मढ़ दिया। पाइप लाइन बिछाने के लिए सिंचाई व पीडब्ल्यूडी से अनुमति मिलने में देरी के कारण दर्शा दिए। समय रहते यदि सारे कार्यों के लिए लिखा पढ़ी की जाती, तो अनुमति पहले ही मिल चुकी होती। 

  6. मेयर बोले-अफसरों से जानकारी मंगाई है

    पाइप लाइन बिछाने के लिए खोदी गई सड़कें बनाई जानी हैं। यह काम कितना हो गया है, कितना बाकी है, क्यों नहीं हो रहा है? इसके बारे में जानकारी मंगाई गई है। 

    किशोर राय, मेयर, बिलासपुर

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना