छत्तीसगढ़ / हादसे का शिकार होते बची बिलासपुर-शहडोल ट्रेन, रेलकर्मी की सजगता से हादसा टला

बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे खंड पर टूटी हुई पटरी। बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे खंड पर टूटी हुई पटरी।
X
बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे खंड पर टूटी हुई पटरी।बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे खंड पर टूटी हुई पटरी।

  • पेंड्रारोड स्टेशन और हिर्री स्टेशन के बीच बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे खंड पर 2 टुकड़ों में पटरियां थीं
  • गैंगमैन ने लाल झंडी दिखाकर कुछ मीटर पहले ट्रेन रोकी, आधे घंटे बाद ट्रेन को रवाना किया गया

दैनिक भास्कर

Feb 18, 2020, 03:04 PM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में मंगलवार सुबह बड़ा ट्रेन हादसा रेलवेकर्मी की सजगता से टल गया। पेंड्रारोड स्टेशन और हिर्री स्टेशन के बीच रेलवे ट्रैक टूटा हुआ था। इसी दौरान वहां से बिलासपुर-शहडोल मेमू ट्रेन निकल रही थी, तभी ड्यूटी पर मौजूद गैंगमैन की नजर उस पड़ी तो लाल झंडी दिखाकर उसने कुछ मीटर पहले ही ट्रेन को रुकवा दिया। सूचना मिलने के बाद रेलवे की ओर से टीम भेजकर ट्रैक की मरम्मत कराई गई। जिसके चलते करीब आधा घंटा ट्रेन वहां खड़ी रही। 

बिलासपुर-अनूपपुर रेलवे खंड पर खंभा नंबर 82305 के पास ट्रैक दो हिस्साें में बंट गया था। उस समय वहां से बिलासपुर- शहडोल मेमू गुजरने वाली थी। इस दौरान पेट्रोलिंग कर रहे गैंगमैन पीएल धुर्व की नजर टूटे ट्रैक पर पड़ी। उन्होंने इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। जब तक पेंड्रा रोड स्टेशन मास्टर के पास सूचना जाती, ट्रेन छूट चुकी थी। टूटी पटरी पर ट्रेन को आते देख गैंगमैन धुर्व ने लाल झंडी दिखाकर कुछ मीटर पहले ही रुकवा दिया। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना