हादसा / बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार पत्नी और बच्ची की मौत, पिता-पुत्र घायल

घायल पिता और पुत्र तन्मय का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है। घायल पिता और पुत्र तन्मय का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।
X
घायल पिता और पुत्र तन्मय का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।घायल पिता और पुत्र तन्मय का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है।

  • सकरी क्षेत्र में कानन पेंडारी जू के पास नहर पुल पर हुआ हादसा, बाइक पर थे पत्नी-बच्चों सहित 5 सवार
  • गुरु घासीदास जयंती के मौके पर युवक अपनी ससुराल भरनी परसदा से मेला देखकर लौट रहा था परिवार सहित

दैनिक भास्कर

Dec 23, 2019, 09:56 AM IST

बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में रविवार को बोलेरो की टक्कर से बाइक सवार पत्नी और बेटी की मौत हो गई। जबकि किराना संचालक और बेटा घायल हो गए। दोनों को उपचार के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे के दौरान बाइक पर पत्नी-बच्चों सहित 5 लोग सवार थे। इनमें से एक बच्ची पूरी तरह सुरक्षित है। बताया जा रहा है कि हादसा एक-दूसरे को बचाने की चक्कर में हुआ है। हादसे में बोलेरो चालक को भी चोट आई है। घटना सकरी थाना क्षेत्र के कानन-पेंडारी के पास की है। 

घायल पिता और तीन साल का बेटा निजी अस्पताल में भर्ती 

सतनामी पारा जरहागांव मुंगेली निवासी संजय बंजारे (34) अपनी पत्नी ललिता बंजारे (30),बेटी निशा (9), आकृति (7) और बेटे तन्मय (3) के साथ कुछ दिन पहले गुरु घासीदास जयंती के मौके पर लगने वाले मेले को देखने अपनी ससुराल ससुराल भरनी परसदा आया था। यहां से रविवार सुबह संजय बंजारे परिवार के साथ बाइक पर घर लौट रहा था। वह कानन पेंडारी के पास नहर पुल को पार ही कर पाए थे कि सामने से तेज गति से आ रही बोलेरो से टक्कर हो गई। 

टक्कर इतनी जोरदार थी कि बाइक करीब 4 मीटर दूर जा गिरी। हादसे में संजय बंजारे की पत्नी ललिता बंंजारे, बेटी आकृति, बेटा तन्मय गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना मिलने पर 108 एम्बुलेंस मौके पर पहुंची और घायलों को सिम्स लेकर लेकर आई। वहां डॉक्टरों ने ललिता बंजारे और बेटी आकृति बंजारे को मृत घोषित कर दिया। जबकि संजय और इनके बेटे तन्मय को इलाज को लिए सिम्स में भर्ती किया गया है। तन्मय की हालत को देखते हुए परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती करवाया है। 

संजय के माता-पिता का पहले ही निधन हो चुका है। अपने परिवार में इकलौता ही है। परिवार चलाने के लिए एक किराना की दुकान खोली हुई है। दो बहने हैं जिसमें से एक की शादी हो चुकी है। दूसरी संजय के साथ ही रहती है। संजय ही पूरे परिवार का खर्च उठा रहा है। इलाज करा रहे संजय को यह जानकारी देर रात तक नहीं दी गई कि उसकी पत्नी ललिता और बेटी की मौत हो चुकी है। रात में उसे घटना के बारे में बताया गया। देर रात मां-बेटी का अंतिम संस्कार किया गया। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना