--Advertisement--

छत्तीसगढ़ / भाजपा चाहे जितने राम मंदिर बना ले, केंद्र में उनकी वापसी नहीं होगी- मायावती



मायावती पहुंची बिलासपुर। मायावती पहुंची बिलासपुर।
X
मायावती पहुंची बिलासपुर।मायावती पहुंची बिलासपुर।
  • बसपा सुप्रीमों ने कहा कि हिंदुत्व की आड़ में भाजपा लोगों की भावनाओं को भड़काने का काम कर रही है
  • छत्तीसगढ़ में दलितों को शोषण हो रहा है 

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 05:42 PM IST

बिलासपुर. बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा कि भाजपा चाहे जितने राम मंदिर बना ले, उसकी केंद्र में वापसी नहीं होगी। हिंदुत्व की आड़ में भाजपा लोगो को भड़काने का काम कर रही है। हम सब को मिलकर केंद्र और राज्य में भाजपा को सरकार बनाने से रोकना होगा। जोगी कांग्रेस से गठबंधन के बाद बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने शनिवार को बिलासपुर से संयुक्त चुनाव अभियान की शुरुआत की।

अजीत जोगी को सरकार चलाना भी आता है और चलवाना भी

  1. मायावती ने कहा कि अजीत जोगी सरकार चलाना भी जानते हैं और चलवाना भी। गठबंधन की सरकार राज्य में बनी तो अजीत जोगी मुख्यमंत्री होंगे। कांग्रेस को उन्होंने अपना सब कुछ देने के बाद भी उन्हें वो सम्मान और आदर नही मिला। बसपा में हम वो सम्मान और आदर दिलाएंगे।

  2. नक्सलवाद का करेंगे खात्मा

    मायावती

     

    जोगी कांग्रेस से गठबंधन के बाद बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने शनिवार को बिलासपुर से संयुक्त चुनाव अभियान की शुरुआत की। दोपहर करीब डेढ़ बजे मंच पर पहुंची मायावती ने जोगी कांग्रेस सुप्रीमो अजीत जोगी के साथ मंच साझा किया। मायावती ने अपने संबोधन में कहा कि जोगी-बसपा गठबंधन की सरकार बनने के बाद नक्सलवाद खत्म हो जाएगा।

  3. अजीत जोगी ने कहा कि इस बार केंद्र में बहन मायावती की सरकार बनेगी। अभी तो यह गठबंधन की शुरुआत है। वर्ष 2019 में हम सब मायावती को प्रधानमंत्री बनता देखेंगे। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को वादाखिलाफी करने वाला बताते हुए जोगी ने कहा कि उन्होंने किसानों, आदिवासियों और युवाओं के साथ धोखा किया है।

  4. प्रदेश में जोगी कांग्रेस 55 और बसपा 35सीटों पर चुनाव लड़ रही है। करीब चार साल बाद बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती प्रदेश में किसी चुनावी रैली को संबोधित कर रही हैं। बिलासपुर के सरकंडा खेल मैदान में मायावती ने अजीत जोगी के साथ गठबंधन के प्रचार का आगाज किया। पिछले महीने यूपी में जोगी कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन होने के बाद दोनों पार्टियों की छग में शनिवार को पहला बड़ा कार्यक्रम रहा।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..