बिलासपुर  / नागरिकता बिल का विरोध करने वाले पहुंचे तो समर्थन में हनुमान चालीसा पढ़ रहे 19 लोगों को किया गिरफ्तार

नागरिकता बिल के समर्थन में 50 से ज्यादा लोग रिवरव्यू पर लगा रहे थे भारत माता की जय के नारे। नागरिकता बिल के समर्थन में 50 से ज्यादा लोग रिवरव्यू पर लगा रहे थे भारत माता की जय के नारे।
X
नागरिकता बिल के समर्थन में 50 से ज्यादा लोग रिवरव्यू पर लगा रहे थे भारत माता की जय के नारे।नागरिकता बिल के समर्थन में 50 से ज्यादा लोग रिवरव्यू पर लगा रहे थे भारत माता की जय के नारे।

  • आरएसएस के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री मनीष राय के नेतृत्व में रिवर व्यू पर भारत माता की जय और वंदेमातरम के लगा रहे थे नारे
  • सीएए के समर्थन और विरोध में आए दो पक्ष हुए आमने-सामने, गिरफ्तार किए गए लोगों को निजी मुचलक पर बाद में दी गई जमानत

दैनिक भास्कर

Jan 22, 2020, 01:28 PM IST

बिलासपुर. देश में एक ओर जहां नागरिका संशोधन बिल (सीएए) का विरोध जारी है, वहीं उसके समर्थन में भी लोग सड़कों पर हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में मंगलवार रात नागरिकता बिल के समर्थक और विरोधी आमने-सामने हो गए। विरोधी जहां नारेबाजी कर रहे थे, वहीं समर्थक वहां बैठकर हनुमान चालीसा पढ़ने में लगे थे। सूचना मिलने पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने समर्थन कर रहे लोगों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी वहीं रहे। हालांकि बाद में गिरफ्तार किए गए लोगों को निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया। 

पुलिस बोली- बिना अनुमति कर रहे थे समर्थन में रैली, आरएसएस नेता ने कहा- एएसपी ने खुद दी थी अनुमति

दरअसल, रिवर व्यू पर मंगलवार रात को सीएए के समर्थन में आरएसएस के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री व दुर्घटना मुक्त भारत के मनीष राय 50-60 लोगों के साथ भारतमाता की जय और वंदेमातरम के नारे लगा रहे थे। बाद में सभी वहां पर बैठ गए और हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे। इसी बीच सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने दूसरे पक्ष के लोग भी वहां पहुंच गए। दोनों अोर से समर्थन व विरोध में नारे लगाने लगे। पुलिस को सूचना मिली तो वह मौके पर पहुंची और समर्थन में बैठकर हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे लोगों को गिरफ्तार कर लिया। 

यहां से सभी को सिटी कोतवाली थाने लाया गया। 19 के खिलाफ यहां प्रतिबंधात्मक धारा 151 के तहत कार्रवाई की गई बाद में उन्हें मुचलके पर छोड़ दिया गया। एएसपी सिटी ओपी शर्मा का कहना है कि जो लोग समर्थन में आए थे, उन्होंने सभा करने या रैली निकालने की अनुमति नहीं ली थी। शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया था। इधर आरएसएस नेता मनीष राय का कहना था उन्होंने एक दिन पहले ही अनुमति लेने आवेदन दिया था। मंगलवार को एएसपी ओपी शर्मा ने खुद ही दोपहर दो बजे अनुमति मिलने की सूचना दी थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना