पंचायत चुनाव  / बिलासपुर की पेंडरवा (द) पंचायत में पंच-सरपंच के लिए नहीं पड़ेगा वोट, उनके बिना ही चलेगी पंचायत

सिंबोलिक फोटो सिंबोलिक फोटो
X
सिंबोलिक फोटोसिंबोलिक फोटो

  • सरपंच में एसटी आरक्षण के कारण ग्राम पंचायत में नहीं मिला चुनाव के लिए एक भी उम्मीदवार
  • विरोध में पंच के लिए भी नहीं किया गया नामांकन, अब जनपद व जिला पंचायत के लिए ही मतदान

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2020, 09:33 AM IST

संजय मिश्रा। बिलासपुर. छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की 649 पंचायतों में से पेंडरवा (द) पंचायत में सरपंच व पंच के लिए एक भी वोट नहीं पड़ेगा। बिल्हा ब्लाॅक की 800 से अधिक जनसंख्या वाली पेंडरवा(द) ग्राम पंचायत में पंच-सरपंच चुनाव के लिए कोई उत्साह नहीं है। वजह आरक्षण के बाद ग्राम पंचायत में उस वर्ग का नहीं होना है। इससे नाराज ग्रामीणों ने पंच के लिए भी नामांकन नहीं किया है। फलस्वरूप जिले की इस पंचायत में पांच साल तक सरपंच व पंच नहीं होगा। चुनाव नहीं होने की वजह से यहां के मतदाता सिर्फ जनपद व जिला पंचायत सदस्य के लिए ही मतदान कर पाएंगे। 

जनसंख्या के आधार पर दिया आरक्षण, पर एसटी वर्ग का कोई नहीं

  1. शहर से लगी 15 ग्राम पंचायतों के नगर निगम में शामिल होने के बाद तखतपुर व बिल्हा ब्लॉक की भौगोलिक परिस्थितियों में भी परिवर्तन हुआ है। जिसके बाद परिसीमन और आरक्षण की प्रक्रिया पंचायत विभाग ने की है। जनसंख्या के आधार पर अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हुई इस ग्राम पंचायत में इस वर्ग का कोई नहीं है। इस वजह से पंचायत में सरपंच का चुनाव ही नहीं होगा। पंच के लिए जरूर चुनाव किया जा सकता था लेकिन सरपंच चुनाव नहीं होने से नाराज यहां के ग्रामीणों ने पंच के लिए एक भी नामांकन नहीं डाला। नामांकन नहीं होने से पंच के लिए भी चुनाव नहीं हो पाएगा। 

  2. आगे क्या होगा 

    यह स्थिति पांच साल तक बनी रहने पर शासन इस पंचायत को प्रशासक की नियुक्ति कर पंचायत के कार्य का संचालन कर सकता है। यानी पंचायत का विकास नहीं रुकेगा। पंचायत चुनाव के बाद शासन स्तर पर यह निर्णय लिया जा सकता है। 

    तीन चरणों में होंगे चुनाव : जिले में पंचायत चुनाव 28, 31 जनवरी व 3 फरवरी को होंगे। इसके लिए इस बार 10 लाख 14 हजार 570 मतदाता अपने मतों का प्रयोग करेंगे। पिछले पंचायत चुनाव की तुलना में इस बार कुल 26341 मतदाता बढ़ गए हैं। इनमें सबसे अधिक 6481 मतदाता बिल्हा ब्लाॅक और सबसे कम 414 मतदाता पेंड्रारोड में जुड़े हैं। 

  3. नामांकन नहीं आने की वजह से नहीं हो रहे चुनाव 

    बिल्हा ब्लाॅक के पेंडरवा (द) ग्राम पंचायत में जिला पंचायत सदस्य व जनपद सदस्यों के लिए मत डाले जाएंगे। आरक्षित वर्ग का एक भी मतदाता नहीं होने की वजह से सरपंच का चुनाव नहीं होगा जबकि पंच के लिए एक भी नामांकन नहीं आया है। इसकी वजह से चुनाव नहीं हो रहे हैं।
    अमित गुप्ता, सहायक निर्वाचन अधिकारी 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना